बाहर से आए लोग क्वारंटाइन के बावजूद, बाहर निकल कर रहे ये गलत काम, लगातार आ रहीं शिकायतें

जिले में ऐसे चार लोगों पर अब तक हो चुकी है एफआईआर, दो को जेल भी

By: Badal Dewangan

Published: 18 Apr 2020, 12:03 PM IST

जगदलपुर. बस्तर जिले में 500 से अधिक लोग दिल्ली समेत ऐसे प्रदेशों से शहर आए हैं, जो कोरोना वायरस के संक्रमण का गढ़ रहा हैं। इनमें से अधिकतर लोग अभी भी होम क्वारंटाइन में हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इनमें से कई युवाओं के हाथ पर स्टांप भी लगाया गया है। मगर ये घर में नहीं रहकर खुलेआम घूम रहे हैं। इससे आसपास के लोग दहशत में हैं और इसकी सूचना स्थानीय थाने को दिए हैं। इसे पुलिस भी काफी गंभीरता से ले रही है। इस तरह की हरकत करने वालों में चार से अधिक लोगों पर अब तक कार्रवाई हो चुकी है। बावजूद इसके वे बाहर निकलकर घूम रहें है और अन्य लोगों से मुलाकात कर रहे हैं। इससे स्थानीय लोगों में कोरोना के संक्रमण का डर बना हुआ है। इसी तरह के मामले में मुख्य मार्ग में हैदराबाद से लौट एक युवक और बस्तर थाना क्षेत्र के इलाके में दो लोगों को बाहर आने की वजह से इन्हें 14 दिन अपने ही घर में रहने के लिए कहा था मगर यह लोग पूरे इलाके में घूम रहे हैं। इससे वहां के लोगों में भय का माहौल है। इसी तरह एमपीएम हॉस्पिटल में होम क्वारंटाइन में रह रहा युवक गुरुवार इलाज के लिए पहुंच गया। होम क्वारंटाइन के बाद भी घूम रहे लोगों को लेकर स्थानीय लोगों का कहना है. जो लोग संदिग्ध है उन्हें घरों में रखने के बजाय ऐसी जगह रखा जाए जो दूसरे के लिए खतरा नहीं बने।

केस -1 क्वारंटाइन में दोस्तों के साथ वीडियो गेम खेलने चला गया
सबसे पहले मामला मेन रोड से आया। यहां एक युवक बाहर से लौटा था। स्वास्थ्य अमले को जब इसकी जानकारी लगी तो वह युवक के घर पहुंची और उसे 14 दिन के होम क्वारंटाइन में रहने के लिए कहा गया। लेकिन इसके बाद भी युवक नहीं माना और वह न केवल घर से बाहर गया, बल्कि अपने साथियों के साथ वीडियो गेम खेलने भी बाहर गया। इसके बाद मामला पुलिस तक पहुंचा और आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की बात कही गई थी।

केस -2 होम क्वॉरेंटाइन में थे, बाजार चले गए, जिस साथी से मिले वह भी अब क्वारंटाइन
शहर के भगत सिंह वार्ड के सीताराम गली में रहने वाले दो लोगों को होम क्वारंटाईन पर रखा गया था। लेकिन गुरुवार को यह लोग बाहर घूम रहे थे। दहशत में आस-पास के लोगों ने इसकी जानकारी डायल 112 को दी। इस पर टीम तत्काल मौके पर पहुंची और उन्हें वापस बुलवाया। इस दौरान पता चला कि वे बाजार गए हुए थे और एक और व्यक्ति के संपर्क में आए हैं। ऐसे में उनका नाम और पता लेकर उन्हें भी होम आइसोलेशन में रहने कहा गया है।

केस 3 - क्वारंटाइन के बाद भी घूम रहे थे
मारकेल के सिवनागुड़ा में होम क्वारंटाइन पर रहे रहे परिवार के गुरुवार को गांव में घूमने की शिकायत के बाद डायल 112 की टीम मौके पर पहुंची। उनके पास पहुंच सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय बताए। साथ ही बताया कि यह इतना खतरनाक क्यों है। इसके बाद सभी को घर में रहने और बाहर न निकलने की समझाईश दी।

केस - 4 इलाज के लिए एमपीएम
धरमपुरा में रहने वाला एक युवक जो हाल ही में हैदराबाद से लौटा है। वह गुरुवार को क्वारंटाइन के दौरान ही घर से बाहर निकला और इलाज के लिए एमपीएम पहुंच गया। जब एमपीएम में डॉक्टरों को उसने जानकारी दी तो हॉस्पिटल में हडकंप मच गया। उसे तुरंत मेडिकल कॉलेज जाने की सलाह दी गई और पूरे अस्पताल को सेनेटाइज किया गया। इसके बाद देर शाम यहां के सभी डॉक्टरों ने एमपीएम अस्पताल प्रबंधन से इस सबंध में बात भी की।

केस -5 क्वॉरेंटाइन में रखे गए दो युवक फरार, पुलिस ने पकड़ा, अब जेल
भानपुरी इलाके के करन्दोला स्थित राहत शिविर से क्वॉरेंटाइन पर रखे गए दो युवकों के फरार होने के चलते उनके खिलाफ एफाआईआर दर्ज की गई है। बताया जा रहा है कि 1 अप्रैल को ओडिशा के कोरापुट के रहने वाले दो लोगों को करंदोला के राहत शिवर में क्वॉरेंटाइन करने रखा गया था। यहां उन्हें बाकायदा राहत सामग्री सहित अन्य व्यवस्थाएं भी दी जा रही थीं। लेकिन इसके बावजूद वे यहां से मंगलवार 14 अप्रैल को भाग निकले। जहां शिविर के सहप्रभारी रामूराम कश्यप की रिपोर्ट पर उनके खिलाफ धारा 188 के तहत अपराध दर्ज किया गया। इन दोनो को बुधवार की शाम पुलिस ने गिरफ्तार किया। दोनों को जेल भेज दिया गया है।

Corona virus Corona Virus treatment
Show More
Badal Dewangan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned