17 लाख लूटकर फरार आरोपियों को पकडऩे पुलिस इस एंगल से करेगी काम, किया स्पेशल-7 का गठन

Robbry की घटना को सुलझाने के लिए DSP की अध्यक्षता में Police Department ने Super Seven Cops की एक टीम बनाई है।

 

By: Badal Dewangan

Published: 07 Jul 2019, 01:22 PM IST

जगदलपुर. बीज कंपनी के कर्मचारियों से 17.30 लाख रुपए लूट के मामले को जल्द सुलझाने के लिए Police ने Spacial - 7 की टीम बनाई है। इस टीम की कमान CSP हेमसागर सिदार को दी गई है। टीम बनने के बाद ही जांच में तेजी आ गई है।

प्राइम सस्पेक्ट को भी आईडेंटिफाई कर लिया
Police ने इस मामले से जुड़े एक दर्जन से अधिक मोबाइल के Call Detail खंगाल लिए हैं, तो वहीं आरोपी का स्कैच भी तैयार किया जा रहा है। पुलिस के मुताबिक यह स्कैच शनिवार की देर रात तक तैयार कर लिया जाएगा। इतना ही नहीं पुलिस की माने तो इस मामले में उन्होंने प्राइम सस्पेक्ट को भी आईडेंटिफाई कर लिया है। जिससे लगातार पूछताछ की जा रही है। जांच टीम के प्रमुख ने कहा कि मामले के आरोपी जल्द ही पुलिस गिरफ्त में होंगे।

Read More : पुलिस भी सीख रही हाईटेक नेटवर्किंग का काम, अब थानों में भी ऑनलाइन होंगे ये सब काम

एक महिला एसआई भी शामिल
इधर लूट की घटना को सुलझाने के लिए सीएसपी की अध्यक्षता में पुलिस विभाग ने सुपर सिक्स कॉप्स की एक टीम बनाई है। सीएसपी की नेतृत्व में बनी इस टीम में दो टीआई, दो एसआई और दो आरक्षक शामिल हैं। इसमें एक महिला एसआई भी शामिल है। टीम में जिले के बेस्ट पुलिस कर्मचारियों को चुना गया है जो मामले को सुलझाने के लिए अलग-अलग थानों से पहुंचे हैं।

क्या है मामला
शुक्रवार शाम वीएनआर कंपनी के कर्मचारी रकम लेकर रायपुर रोड पर रवाना हुए तभी आसना रोड पर 17.30 लाख रुपए की लूट हो गई। घटना तब हुई जब बीज कंपनी के कर्मचारी लेबर पेमेंट के लिए यह रकम लेकर जैतगिरी के लिए जा रहे थे। इसी दौरान स्कॉर्पियो सवार दो लोग उनके सामने पहुंचे, गाड़ी रोकी और पिस्टल दिखाकर डराया और नोटों से भरा बैग छीन लिया। शिकायत के बाद पुलिस ने मामले में एफआइआर दर्ज की है और सीमावर्ती क्षेत्र को सील कर पड़ताल करने की बात कह रही है।

15 मोबाइल के कॉल डिटेल खंगाले, 4 लोग प्राइम सस्पेक्ट
पुलिस सूत्रों की माने तो टीम बनने के बाद जांच में तेजी आई है। पुलिस की टीम अब तक १५ मोबाइल के कॉल डिटेल खंगाल चुकी है। इस डिटेल और जांच के आधार पर उन्होंने चार सस्पेक्ट को ढूंढ निकाला है। उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है। वहीं आरोपी का स्कैच भी बनाने का काम चल रहा है। हालांकि विभाग इस बात को खुलकर कहने से बच रहा है।

कौन है इस स्पेशल टीम में
1. सीएसपी हेमसागर सिदार, मॉनिटरिंगए डॉक्यूमेंटेशन और कानूनी जानकार

2. टीआई धनंजय सिन्हा, घटना के मुख्य विवेचक, अपराधियों पर कड़ाई और कानूनी एक्सपर्ट के तौर पर डिपार्टमेंट में जाने जाते हैं।
3. टीआई सुरेंद्र बघेल, लूट जैसे मामलों को सुलझाने का लंबा अनुभव। अपराधियों के मनोविज्ञान की भी गहरी समझ।

4. एसआई भुनेश्वरी नरेटी, विवेचना एक्सपर्ट, इनके विवेचना में ज्यादातर लोगों को सजा, बेस्ट विवेचना के लिए अवार्ड भी, जरूरत पडऩे पर आइडेंटिटी बदलकर अपराधियों को पकड़ती हैं।
5. एसआई विश्वजीत सिंह, क्राईम ब्रांच प्रभारी दो सालो तक रहे। ओडिशा, झारखंड, बिहार के उठाईगिरों और लूटेरों की पूरी जानकारी। अपराधियों को ट्रेस करने मोबाइल लोकेशन जैसे टेक्निकल जानकारी।

6. आरक्षक अमर दीवान, कई सालो से क्राईम ब्रांच में काम करने और दूसरे प्रदेशों में अपराधियों के ठिकानों की जानकारी।
7. आरक्षक भूपेंद्र नेताम, लंबे समय से क्राईम ब्रांच में काम करने का अनुभव।

बस्तर POLICE की उपलब्धियों को जानने के लिए यहां CLICK करें

Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned