प्याज का दाम सुन ठंड में आ रहा पसीना, जानिए क्यों लगातार बढ़ रहे दाम

सेब से भी ज्यादा महंगा हो चुका है प्याज, सेब की शुरूआवती कीमत प्याज से कम होती जा रही है।

जगदलपुर. बाजार में मंगलवार को दिनों प्याज की कीमत सेब से भी ऊंची रही। जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और अन्य राज्यों से आने वाले सेब की शुरुआती कीमत के खुदरा बाजार में 100-110 रुपए किलो थी। वहीं प्याज की शुरुआती कीमत 110-120 रुपए किलो सुनकर ठंड में लोगों के माथे से पसीने छूटने लगे। एक बार फिर से प्याज की बढ़ती कीमत ने गृहणियों का रूलाया है। संजय बाजार, गोल बाजार, आड़ावाल और धरमपुरा बाजार में मंगलवार को प्याज का दाम 110-120 रुपए किलों में बिका है। प्याज की कीमत सुनकर लोगों के होश पाख्ता हो गए।

प्याज का दाम बढऩा लोगों के समझ से परे
इस साल प्याज के दाम ने अब तक सारे रिकार्ड तोड़ दिए हैं। प्याज महंगा देख कर अधिकांश महिलाएं एक किलो के बजाए आधा किलो और एक पाव प्याज खरीदती हुई नजर आईं। प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं, बाजार में जहां सेब 110 रुपए तक बिक रहे हैं वहीं प्याज की कीमत इससे भी अधिक १२० रुपए तक पहुंच चुकी है। बाजार में व्यापारियों और सब्जी मंडियों के पास प्याज की कोई कमी नहीं है, बावजूद प्याज का दाम बढऩा लोगों को समझ नहीं आ रहा है।

प्याज की कीमत बढऩे से बाजार में महंगाई साफ तौर पर नजर आ रही
प्रशासन की ओर से यदि सख्ती नहीं बरती गई तो आने वाले दिनों में रेट और भी बढ़ सकते। इधर गृहणियां प्याज के दाम कम होने का इंतजार कर रही हैं। संजय व गोल बाजार सहित अन्य रिटेल बाजारों में प्याज की कीमतों में आग लगी हुई है। यहां सब्जी खरीदने वाले लोगों का कहना था कि सेब का सस्ता होना अच्छा है, लेकिन आलू और प्याज सब्जियों के लिए महत्वपूर्ण होता है। प्याज की कीमत बढऩे से बाजार में महंगाई साफ तौर पर नजर आ रही है।

अन्य सब्जियों की कीमतों से राहत नहीं
टमाटर को छोड़ दें तो बाकी अन्य सब्जियों की कीमतों में भी आग लगी हुई है। पत्ता गोभी जो कि चिल्हर में २० रुपए प्रति किलो बिकती थी, वर्तमान में इसकी कीमत चिल्हर में ही २० रुपए किलो मिल रही है। वहीं फू लगोभी ६० रुपए तक पहुंच चुकी है।

कार्रवाई की जा रही
शासन की ओर से प्याज के जमाखोरी पर सख्त कार्रवाई करने निर्देश हैं। बड़े और खुदरा व्यापारियों के लिमिट से अधिक भंडारण करते हुए पाए जाने पर जप्ती व खाद्य अधिनियम के तहत कार्रवाई जा रही है।
दिव्यारानी, सहायक खाद्य नियंत्रक अधिकारी, बस्तर

Badal Dewangan
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned