scriptNaxal Attack: 100 दिन में सुरक्षा बलों ने 37 नक्सली मार गिराए, चुनाव से पहले कांपे आतंकी | Security forces killed 37 Naxals in 100 days, terrorists trembled | Patrika News
जगदलपुर

Naxal Attack: 100 दिन में सुरक्षा बलों ने 37 नक्सली मार गिराए, चुनाव से पहले कांपे आतंकी

Bastar Naxal Attack: पिछले सौ दिनों में सुरक्षा बलों ने करीब 37 नक्सलियों को अलग-अलग मुठभेड़ों में मौत के घाट उतार दिया। नक्सलियों पर लगातार दबाव बनाकर सुरक्षा बलों के हौसले बुलंद है। उन्हें विश्वास है कि इस बार भी लोकसभा चुनाव में वे नक्सलियों को काबू में रखने में सफल होंगे।

जगदलपुरApr 03, 2024 / 10:44 am

Kanakdurga jha

big_naxal_attack.jpg
Bastar Naxal Attack: छत्तीसगढ़ में नक्सलियों की उलटी गिनती शुरू हो गई है। प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही नक्सली मुठभेड़ बढ़ गए और पहली बार सुरक्षा बल माओवादियों के गुप्त ठिकानों तक पहुंचने में सफल हुए है। पिछले सौ दिनों में सुरक्षा बलों ने करीब 37 नक्सलियों को अलग-अलग मुठभेड़ों में मौत के घाट उतार दिया। ये मुठभेड़ नक्सलियों को भारी पड़ रहे है क्योंकि उन्हें जान-माल दोनों का नुकसान हो रहा है। पिछले 3 महीनों में सुरक्षा बलों ने न केवल में भारी मात्रा में हथियार और अन्य नक्सल सामग्रियां बरामद की, बल्कि माओवादियों के स्थानीय नेटवर्क को भी ध्वस्त करने में कामियाबी हासिल की।
यह भी पढ़ें

तीन लड़कियों का 4 लड़कों ने किया रेप, एक की मदद के लिए आया दोस्त, उसने भी किया दुष्कर्म

Big Naxal Attack: नक्सलियों पर लगातार दबाव बनाकर सुरक्षा बलों के हौसले बुलंद है। उन्हें विश्वास है कि इस बार भी लोकसभा चुनाव में वे नक्सलियों को काबू में रखने में सफल होंगे। बीते 15 दिनों में नक्सलियों ने जनता को चुनाव में शामिल ना होने के लिए तरह-तरह के प्रपंच कर भड़काया और धमकाया। इसी दौरान इन देश विरोधी तत्वों ने कुछ निर्दोष ग्रामीणों को बंधक बनाया और कुछ को मार डाला।
यह भी पढ़ें

Lok Sabha Election 2024: अमित शाह आएंगे छत्तीसगढ़, प्रधानमंत्री मोदी, नड्डा का भी दौरा तय, इस दिन करेंगे धुआंधार प्रचार..




Bastar Naxal Encounter: प्रदेश में पहले चरण का चुनाव धुर नक्सल क्षेत्र बस्तर में होगा जहां सुरक्षा बलों के समक्ष शान्तिपूर्ण मतदान कराने की चुनौती होगी। दूसरे चरण में महासमुंद, राजनांदगाव और कांकेर में चुनाव है। इनमें राजनांदगाव और कांकेर में भी नक्सलियों की धमक देखते हुए भारी सुरक्षा बलों की उपस्थिति में मतदान कराया जाएगा। केंद्र सरकार ने भी साफ़ कर दिया है कि इस बार किसी प्रकार की हिंसा नहीं होने देंगे। नक्सलियों पर लगाम कसने के लिए छतीसगढ़ समेत चार राज्यों ने मिल कर यह निर्णय लिया है कि चुनाव के दौरान किसी प्रकार की गड़बड़ी या हिंसा नहीं होने दी जाएगी।

Hindi News/ Jagdalpur / Naxal Attack: 100 दिन में सुरक्षा बलों ने 37 नक्सली मार गिराए, चुनाव से पहले कांपे आतंकी

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो