Video : पुलिस अत्याचार और विकास के मुद्दे को लेकर गोंडेरास पहुंचे हजारों ग्रामीण, लेकिन इस वजह से नहीं हो पाई ग्रामसभा

Badal Dewangan

Publish: May, 16 2019 12:32:16 PM (IST)

Bastar, Jagdalpur, Chhattisgarh, India

जगदलपुर. दंतेवाड़ा के गोंडेरास में बुधवार को १४ गांव के हजारों ग्रामीण पहुंचे। हालांकि यहां होने वाली ग्रामसभा तकनीकी कारणों की वजह से नहीं हो सकी लेकिन यहां सभी ग्रामीणों ने सामान्य सभा में रखने वाले विषयों को तय कर लिया है। इसमें स्कूल, सडक़, छात्रावास, पेसा कानून और जवानों द्वारा ग्रामीणों से मारपीट के विरोध में करीब तीन घंटे ग्रामीणों ने विस्तार से चर्चा की और कहा कि ग्रामसभा में इन सारे विषयों को रखा जाएगा और इसके प्रस्ताव को पारित किया जाएगा।

बैठक में ग्रामीणों ने अपने इलाके की समस्या बताई
बुधवार को गोंडेरास में दोपहर करीब एक बजे तक यहां ग्रामीण रैली की शक्ल में पहुंचते रहे। इसके बाद यहां ग्रामीणों ने इक हुए और ग्रामसभा के विषयों पर चर्चा हुई। तीन घंटे तक चली इस बैठक में ग्रामीणों ने अपने इलाके की समस्या बताई। यहां सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोढ़ी भी पहुची थी। सभी ग्रामीणों ने अपनी समस्या के साथ मंागे भी रखीं। यहां ग्रामीणों ने कहा कि जो स्कूलें गांव से शिफ्ट कर दी गईं है, उन्हें गांव में खोला जाए। साथ ही छात्रावास भी खोले जाए। वहीं गांव तक सडक़ बनाने और पेसा कानून का पूरी तरह से पालन करने को लेकर भी चर्चा की गई।

ग्रामसभा में रखने वाले सारे विषयों का मसौदा तैयार किया गया
दरअसल बुधवार को गोंडेरास में ग्रामसभा होनी थी। लेकिन इसके लिए तकीनीकी प्रोसिजर ही फॉलो नहीं किया गया। इसलिए ग्रामसभा नहीं हो सकी। अब यहां के सचिव ने कलक्टर को यहां ग्रामसभा करने की जानकारी दे दी है। आने वाले १५ दिन के अंदर यहां ग्रामसभा होगी, जिसमें तय किए गए विषयों का प्रस्ताव पारित किया जाएगा।

ग्रामीणों से मारपीट के विरोध में गांव से होगा बड़ा आंदोलन
यहां पहुंची सोनी सोढ़ी ने बताया कि यहां सभा में बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे थे। उन्होंने अपनी समस्या सामने रखने के साथ मांगे भी रखीं। साथ ही ग्रामीणों ने साफ किया कि इसे लेकर गांव से लेकर शहर और राजधानी तक इस पर अगली बार से आंदोलन किया जाएगा। यह सारे फैसले ग्रामीणों के हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रामसभा के दायरे को लेकर भी लोगों को जानकारी मिली। इससे पहले गांव में सडक़ और पुलिया के लिए ही ग्रामसभा होता था। ग्रामीण ग्राम सभा को लेकर जागरूक हो रहे हैं और उन्हें यह भी पता चल रहा है कि वे इससे बड़े फैसले भी ले सकते हैं। अब १५ दिन के अंदर ग्रामसभा होगी जिसमें वे खुद शामिल रहेंगी। इसमें इन सभी विषयों पर प्रस्ताव लाया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned