तीन संदिग्ध चार घंटे तक लैपटॉप लेकर स्ट्रांगरूम परिसर के आसपास थे मौजूद, कांग्रेसियों ने पकड़ा फिर मचा बवाल

तीन संदिग्ध चार घंटे तक लैपटॉप लेकर स्ट्रांगरूम परिसर के आसपास थे मौजूद, कांग्रेसियों ने पकड़ा फिर मचा बवाल

Deepak Sahu | Updated: 08 Dec 2018, 01:56:12 PM (IST) Jagdalpur, Jagdalpur, Chhattisgarh, India

जगदलपुर में तीन संदिग्ध लैपटॉप लेकर चार घंटे तक स्ट्रांग रूम परिसर में मौजूद रहे।

जगदलपुर . जगदलपुर में जिला निर्वाचन की बड़ी चूक देखने को मिली है। दरअसल निर्वाचन आयोग ने स्ट्रांग रूम परिसर में किसी भी तरह की इलेक्ट्रानिक गैजेट न ले जाने के आदेश जारी किए हैं। लेकिन इसे उलट जगदलपुर में तीन संदिग्ध लैपटॉप लेकर चार घंटे तक स्ट्रांग रूम परिसर में मौजूद रहे। इसके बाद भी यहां मौजूद तैनात जवानों, अधिकारियों व कर्मचारियों ने नहीं बल्कि कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने इन संदिग्धों को पकड़ा और जिला निर्वाचन अधिकारी, पार्टी के प्रत्याशी व नेता समेत पुलिस व अन्य लोगों को जानकारी दी। मामला बढ़ता देख यहां मौजूद लोग भी हरकत में आए और तीनों को पकडक़र। करीब रात 10 बजे तीनों को कोतवाली ले जाया गया जहां देर रात तक उनसे पूछताछ जारी रही।

दरअसल यह तीनों आरोपी गुरुवार की शाम साढ़े 6 बजे सुरक्षा जवानों से अपनी जांच करवाने के बाद बकायदा रजिस्टर में अपना नाम दर्ज किया और अंदर घुसे। इस दौरान उनके साथ मोबाइल व लैपटॉप दोनो मौजूद थे। इसके बाद से वे अंदर ही थे। इसी दौरान इवीएम मशीन की निगरानी की जिम्मेदारी मिली कांग्रेसी कार्यकर्ता यहां पहुंचे इस गतिविधि को देकर बवाल मचाया, तब जाकर इसका खुलासा हुआ।

 

chhattisgarh election

इधर जानकारी लगते ही दिग्गज पहुंचे स्ट्रांगरूम परिसर : कांग्रेसियों को जैसे ही इसकी जानकारी लगती गई वैसे-वैसे यहां कार्यकर्ता पहुंचते रहे। आलम यह रहा कि कार्यकर्ता तीनों आरोपी को कोतवाली ले जाने के बाद भ्भी कई दिग्गज स्ट्रांग रूम परिसर के सामने देर रात तक खड़े रहे। इनमें पूर्व जिलाध्यक्ष मनोहर लुनिया, महासचिव प्रशांत जैन, अजय बिसाई समेत कई बड़े पदाधिकारी शामिल रहे। संदिग्ध लोगों को इससे पहले की पुलिस कोतवाली लेकर पहुंचती उससे पहले ही यहां बड़ी संख्या में शहरवासी पहुंच गए। जैसे ही पुलिस इन संदिग्धों को लेकर कोतवाली पहुंची यहां सभी लोग उनसे पूछने लगे कि तुम लोग को किसने भेजा है। पुलिस किसी तरह सभी लोगों से बचाकर कोतवली के अंदर लेकर पहुंची। हांलाकि किसी भी संदिग्ध ने इसका जवाब नहीं दिया।

घटना स्थल से दो को एक साथ और अन्य एक को आधे घंटे बाद लेकर गई पुलिस
कांग्रसियों के बवाल मचाने के बाद यहां तुरंत पुलिस पहुंची। मौके पर मौजूद तीन में से दो लोगों को तुरंत अपनी गाड़ी में बिठाकर कोतवाली लेकर गए। इसके बाद यहां करीब आधे घंटे तक एक अन्य संदिग्ध मौजूद रहा। जिससे यहां मौजूद पुसिल अधिकारी बातचीत करते रहे। करीब आधे घंटे बाद एक और गाड़ी कोतवाली की यहां पहुंची और उसके बाद इस संदिग्ध को बिठाकर कोतवाली ले जाया गया।

तीन विधानसभाओं की रखी हैं यहां मशीने
जगदलपुर में कालीपुर स्थित महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज जिसमें स्ट्रांग रूम तैयार किया गया है यहां तीन विधानसभाओं की इवीएम मशीने रखी हैं। चित्रकोट, बस्तर व जगदलपुर। कांग्रेस ने इवीएम गड़बडियों की शंकाओं के बीच कार्यकर्ताओं को इसकी निगरानी की जिम्मेदारी दी है।

कांग्रेसियों का आरोप - हैकरों का यह गिरोह पूरे प्रदेश में गड़बडी करने पहुंचा है
घटना के बाद कोतवाली पहुंचे कांग्रेस से जगदलपुर विधानसभा के प्रत्याशी रेखचंद जैन और जिलाध्यक्ष राजीव शर्मा ने कहा कि उन्हें जहां तक पता चला है कि यह लोग भोपाल से आए हैं। यह एक गिरोह है जो पूरे प्रदेश में हुए चुनाव के बाद स्ट्रांग रूम में रखी इवीएम में गड़बडिय़ों का ठेका मिला है। यह लोग वेल प्लानिंग कर यहां पहुंचे हैं। जब उन्हें रंगे हाथों उनके कार्यकर्ताओं ने पकड़ा तो घबराकर निजी कंपनी का कर्मचारी बता रहे हैं। इनकी मशीनों का विधिवत किसी टेक्निशियन से जांच करवाना चाहिए फिर बड़ा खुलासा होगा। फिलहाल इसे लेकर भाजपाइयों की चुप्पी भी संदेहास्पद है।

प्रधान आरक्षक व आरक्षक निलंबित
घटना के बाद कलक्टर अय्याज तंबोली ने पत्र जारी करते हुए कहा है कि सुरक्षा कर्मचारी को किसी भी अनुमति पत्र के बगैर प्रवेश कराना वर्जित है। इस जिम्मेदारी के परिचालन में त्रुटि होने के कारण सुरक्षाकर्मी प्रधान आरक्षक केशव साहू और आरक्षक इंद्रकुमार पैकरा को निलंबित कर दिया है। साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि यहां थ्रभ्ी लेयर सुरक्षा रखी गई है। इवीएम से किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं हुई है। स्ट्रांग रूम में इवीएम मशीने पूरी तरह सेफ हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned