फर्जी ग्रामसभा की जांच की बात निकली ही थी कि, आंदोलन के पहले ही दिन मौके से फरार हो गया सचिव, अब....

फर्जी ग्रामसभा की जांच की बात निकली ही थी कि, आंदोलन के पहले ही दिन मौके से फरार हो गया सचिव, अब....

Badal Dewangan | Publish: Jun, 15 2019 02:42:08 PM (IST) Jagdalpur, Jagdalpur, Chhattisgarh, India

कथित फर्जी ग्रामसभा की जांच शुरू, एनएमडीसी व मामले से जुड़े विभागों को दिया गया नोटिस

जगदलपुर . बैलाडीला की डिपॉजिट १३ को अडानी को दिए जाने के विरोध में ६ दिन चला आंदोलन गुरुवार को खत्म हो गया। इसके साथ ही दंतेवाड़ा जिला प्रशासन ने हिरोली में हुई कथित फर्जी ग्रामसभा की जांच शुरू कर दी है। दंतेवाड़ा एसडीएम नूतन कंवर को जांच का जिम्मा दिया गया है। एसडीएम ने शुक्रवार को एनएमडीसी समेत उन सभी विभागों को नोटिस जारी किया है, जिनकी ग्रामसभा में सहभागिता थी। एनएमडीसी समेत विभागों से कहा गया है कि वे तीन दिन के भीतर २०१४ में हुई ग्रामसभा से जुड़ी हर वो जानकारी उपलब्ध करवाएं जो उनके पास हैं। अंदरखाने आ रही खबरों की माने तो नोटिस जारी होने से एनएमडीसी समेत विभागों में हडक़ंप मचा हुआ है। विभाग रिकॉर्ड रूम में डटे हुए हैं और एक-एक कागज देख रहे हैं।

आंदोलन शुरू होते ही गायब हो गया सचिव
2014 में हुई कथित फर्जी ग्रामसभा में शामिल हिरोली का पंचायत सचिव अब भी वहां पदस्थ है। जिस दिन आंदोलन शुरू हुआ तब से वह गायब है। वह कांकेर जिले का रहना है। जांच में उसका रहना जरूरी है। अब उसे ढूंढा जा रहा है।

सारे तथ्य जल्द सामने होंगे
दंतेवाड़ा कलक्टर टोपेश्वर वर्मा ने बताया कि, एसडीएम को जांच का जिम्मा सौंपा गया है। उन्होंने शुक्रवार को अपना काम शुरू कर दिया। हम जांच के दौरान दस्तावेजों के साथ समझौता नहीं कर सकते। इसलिए एसडीएम ने सभी से पुराना डेटा मांगा है ताकि उसके आधार पर जांच तेजी से आगे बढ़ सके। जांच में पूरी निष्पक्षता बरती जाएगी। ग्रामसभा से जुड़े सारे तथ्य जल्द आपके सामने होंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned