कल जब पूरा भारत था बंद, बस्तर के कांग्रेसियों में परखी जा रही थी ये चीज

कल जब पूरा भारत था बंद, बस्तर के कांग्रेसियों में परखी जा रही थी ये चीज

Badal Dewangan | Publish: Sep, 11 2018 01:05:18 PM (IST) Jagdalpur, Chhattisgarh, India

कांग्रेस ने पेट्रोल, डीजल व गैस के बढ़े दामों के विरोध में बस्तर बंद का आह्वान किया था। इस बंद को शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में काफी समर्थन भी मिला।

जगदलपुर. वैसे तो कांग्रेस ने पेट्रोल, डीजल व गैस के बढ़े दामों के विरोध में बस्तर बंद का आह्वान किया था। इस बंद को शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में काफी समर्थन भी मिला। लेकिन इस बंद के बहाने बस्तर पहुंचे प्रदेश प्रभारी अरूण उरांव ने विधानसभा चुनाव में अपनी दावेदारी ठोंकने वाले उम्मीदवारों की जमीनी ताकत भी तलाश ली। साथ ही इस बंद में कौन कितना पसीना बहा रहा है, इसकी भी मॉनिटरिंग की प्रदेश प्रभारी उरांव ने। रविवार की सुबह आठ बजे से ही उरांव अपनी गाड़ी में बैठ, बिना किसी कांग्रेस के पदाधिकारियों को बताए सर्किट हाउस से निकल गए। इसके बाद वे शहरभर में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की सक्रियता देखने घूमते रहें।

जो विधानसभा चुनाव में टिकट की दावेदारी कर रहे है
इसके साथ ही उन्होंने शहर अलग-अलग स्थानों में पहुंचकर पार्टी में विधानसभा चुनाव के लिए फार्म भरने वाले प्रत्याशियों की जमीनी स्थिति भी पूछी। इसके बाद वे ग्रामीण इलाकों में भी पहुंचे और बंद के लिए वे लोग जो विधानसभा चुनाव में टिकट की दावेदारी कर रहे है, कितना प्रयास कर कर रहे हैं इसे देखा। गौरतलब है कि इस दौरान उनके साथ कोई भी स्थानीय पदाधिकारी मौजूद नहीं था। सोमवार की शाम 4 बजे अरूण उरांव बालोद के लिए रवाना हो गए वहां पार्टी की उम्मीदवारों पर रायशुमारी की जाएगी।

पदाधिकारी और उम्मीदवारों को भी नहीं पता था
अरूण उरांव सुबह सुबह ही सर्किट हाउस से अपनी गाड़ी में उम्मीदवारों की सक्रियता देखने निकल गए थे। इधर पदाधिकारी और उम्मीदवारों को पता ही नहीं रहा कि अरूण उरांव किस वक्त किस जगह हैं।

एक दिन पहले ही उम्मीदवारों को दी थी चेतावनी
पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बंद के एक दिन पहले पार्टी कार्यालय में पदाधिकारियों और उम्मीदवारों की बैठक के दौरान उरांव ने साफ शब्दों में कहा था कि बंद के दौरान वे उम्मीदवारों की सक्रियता और ताकत देखेंगे। सोमवार की सुबह से वे शहरी से लेकर ग्रामीण इलाकों में पहुंचकर जमीनी हकीकत देखेंगे।

टिकट फाइनल से पहले इस रिपोर्ट पर भी चर्चा
पार्टी सूत्रों की माने तो बस्तर में बस्तर, जगदलपुर और लोहांडीगुड़ा में उम्मीदवारों की संख्या अधिक होने की वजह से वे इस बंद के बहाने उम्मीदवारों की ताकत व सक्रियता देखने के लिए विशेष रूप से पहुंचे हुए थे। वे यहां बंद के दौरान ग्रामीण से लेकर शहरी इलाकों का दौरा कर उम्मीदवारों की सक्रियता को लेकर रिपोर्ट तैयार करेंगे। इसके बाद शार्टलिस्ट हुए उम्मीदवारों पर दिल्ली के केंद्रीय चुनाव कमेटी की बैठक में इस रिपोर्ट पर भी चर्चा होगी, इसके बाद ही टिकट फाइनल किया जाएगा।

Ad Block is Banned