ग्रेटर-हैरिटेज नगर निगम एक्शन में : 10 प्रतिष्ठान सीज, दो से जुर्माना वसूला

कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर कार्रवाई

 

By: Amit Pareek

Published: 11 May 2021, 11:38 PM IST

जयपुर. ग्रेटर और हैरिटेज नगर निगम की ओर से रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े की गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए एक्शन जारी है। कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर 10 प्रतिष्ठान सीज किए गए। दो प्रतिष्ठानों पर जुर्माना वसूला गया।
जानकारी के अनुसार ग्रेटर नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त ब्रजेश कुमार चांदोलिया सहित आला अधिकारी फील्ड में रहे। इस दौरान मानसरोवर जोन में स्टोर में सोशल डिस्टेंसिंग की अवहेलना मिलने पर संचालक पर 10 हजार का जुर्माना किया गया। साथ ही प्रतिष्ठान को सीज किया गया। कार्रवाई के दौरान स्टोर में 28 लोग एक साथ मौजूद थे। मुरलीपुरा जोन में एक बेकरी एवं फल सब्जी भण्डार को भी सीज कर 10 हजार का जुर्माना वसूला गया। इसी प्रकार जगतपुरा जोन में आइसक्रीम पार्लर और एक अन्य प्रतिष्ठान को कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने पर सीज किया गया। इसी प्रकार सांगानेर जोन में भी एक प्रतिष्ठान पर कार्रवाई की गई। सतर्कता उपायुक्त सेठाराम बंजारा के नेतृत्व में टीम ने कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर 15 लोगों का चालान किया। साथ ही कैरिंग चार्ज के रूप में 65 हजार वसूले गए।

हैरिटेज नगर निगम की कार्रवाई

हैरिटेज नगर निगम के आदर्श नगर जोन में उपायुक्त रामकिशोर मीणा के नेतृत्व में टीम ने जनता कॉलोनी स्थित पान भण्डार और डिपार्टमेन्टल स्टोर सीज किया। इसी प्रकार हवामहल आमेर जोन में भोजनालय तथा सिविल लाइंस जोन में हसनपुरा रोड पर दो प्रतिष्ठानों को सीज कर 4200 रुपए जुर्माना वसूला।

रोको-टोको अभियान के लिए अधिकारी

आमजन में कोरोना से बचाव के प्रति जागरूकता के लिए दोनों निगमों की ओर से रोको-टोको अभियान चलाया जा रहा है। अतिरिक्त आयुक्त ब्रजेश कुमार चांदोलिया, उपायुक्त सतर्कता सेठाराम बंजारा सहित निगम के आला अधिकारियों ने मानसरोवर, मालवीय नगर और सांगानेर क्षेत्र में आमजन व दुकानदारों से समझाइश की और उन्हें कोविड-19 प्रोटोकॉल की पालना के लिए प्रेरित किया। इस दौरान जहां लापरवाही मिली उन प्रतिष्ठानों एवं लोगों पर कार्रवाई की गई।

Amit Pareek
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned