देर रात सरकार ने किए 10 आईएएस अफसरों के तबादले, डॉ समित शर्मा भी शामिल

देर रात सरकार ने किए 10 आईएएस अफसरों के तबादले, डॉ समित शर्मा भी शामिल

abdul bari | Publish: Jun, 26 2019 11:56:25 PM (IST) | Updated: Jun, 27 2019 12:22:47 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

( IAS transfer in rajasthan ) गौरतलब है कि एनएचएम में नियुक्ति मामले में विवादों में आए डॉ समित शर्मा को सरकार ने हटाते हुए श्रम विभाग का आयुक्त बना दिया है। वहीं राजस्थान कौशल विकास निगम के प्रबंध निदेशक की भी जिम्मेदारी सौंपी है।

जयपुर

सरकार ने देर रात को दस आईएएस अफसरों के तबादले ( IAS transfer list )किए है। कार्मिक विभाग की आेर से जारी तबादलों की सूची ( ias transfer in rajasthan ) के अनुसार भवानी सिंह देथा को स्वायत्त शासन विभाग में शासन सचिव, विकास सीतााराम भाले को उदयपुर का संभागीय आयुक्त और टीएडी का पदेन आयुक्त, मुग्धा सिंहा को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की शासन सचिव, सिद्धार्थ महाजन को खाद्य नागरिक एवं आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग में शासन सचिव, डॉ समित शर्मा को श्रम विभाग में आयुक्त और राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के प्रबंध निदेशक, डॉ ओमप्रकाश को परियोजना निदेशक, राजस्थान कृषि प्रतिस्पद्र्धात्मक परियोजना एवं प्रशासक राजस्थान कृषि विपणन बोर्ड एवं आयुक्त कृषि विभाग, वीरेंद्र सिंह को चिकित्सा शिक्षा विभाग और आयुर्वेद विभाग में विशिष्ट शासन सचिव, पवन अरोड़ा को राजस्थान आवासन मंडल में आयुक्त, उज्जवल राठौड़ को स्थानीय निकाय विभाग में निदेशक और पदेन संयुक्त सचिव और निकया गोहाएन को जल संसाधन विभाग में संयुक्त शासन सचिव लगाया है।

विवादों में थे समित शर्मा
गौरतलब है कि एनएचएम ( NRHM ) में मंत्री और एसीएस को बगैर जानकारी दिए नियुक्ति निकालने के मामले में विवादों में आए डॉ समित शर्मा को सरकार ने हटाते हुए श्रम विभाग का आयुक्त बनाया है। वहीं राजस्थान कौशल विकास निगम के प्रबंध निदेशक की भी जिम्मेदारी सौंपी है।

 

 

पढ़ें अन्य खबर..

विधानसभा के नियम हुए सख्त...

कांग्रेस ( Congress ) सरकार का पहला बजट सत्र गुरूवार से शुरू होने जा रहा है। सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी ( CP Joshi ) ने बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलाकर सभी दलों से सदन चलने पर चर्चा की और आग्रह किया कि विधानसभा में विधायी कार्य ज्यादा से ज्यादा होने चाहिए।

सभी दलों को यह जिम्मेदारी समझते हुए सदन चलने देना चाहिए। प्रश्नकाल ( Question hour) को लेकर जोशी ने कुछ नियम कडे कर दिए हैं, जिससे अब जिस विधायक का प्रश्न होगा, वही दो पूरक प्रश्न पूछ सकेगा। अन्य विधायक पूरक प्रश्न नहीं पूछ सकेंगे।

 

यह खबरें भी पढें..

रिश्वत लेते महिला सुपरवाईजर गिरफ्तार, एसीबी टीम को देखते ही छूटे पसीने, पानी तक नहीं पिया

प्रदेश शर्मसार.. नाबालिग को जबरन नशीला जूस पिलाकर किया गैंगरेप, बदहवास हालत में छोड़ा

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned