134 छात्राओं को नहीं आया वोट डालना, किसी ने अगूंठा लगाया तो किसी ने ​लिखा नोटा

134 छात्राओं को नहीं आया वोट डालना, किसी ने अगूंठा  लगाया तो किसी ने ​लिखा नोटा

Vijay Kumar Sharma | Publish: Sep, 11 2018 08:42:05 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

महारानी कॉलेज में 134 वोट निरस्त हुए

जयपुर। छात्र संघ चुनावों में पहली बार अपने मत का इस्तेमाल करने वाली छात्राओं को वोट डालना ही नहीं आया। महारानी कॉलेज में मतगणना के दौरान 134 वोट निरस्त कर दिए गए।
हैरानी की बात है कि छात्राओं ने बोलेट पेपर पर अंगूठे का तक इस्तेमाल कर दिया। इतना ही नहीं कई छात्राएं पेपर पर ही नोटा लिखकर चली गई। कई ऐसी थी जिन्होंने प्रत्याशी का नाम लिख दिया। गणना में कई पेपर ऐसे भी सामने आए जो पूरी तरह से खाली छोड दिए गए। महारानी कॉलेज में काउंटिंग के दौरान एकत्रित किए 134 ऐसे वोटों को निरस्त कर दिया गया। इस दौरान प्रशासन ने सभी निरस्त वोटों की जानकारी प्रत्याशियों को दी। प्रिंसिपल अल्पना कटेजा ने प्रत्याशियों को यहां तक कह दिया कि आपने छात्राओं को वोट डालना भी नहीं सिखाया क्या। कटेजा ने बताया कि उपाध्यक्ष के लिए 33, अध्यक्ष पद के लिए 28, महासचिव के लिए 40 और संयुक्त सचिव के लिए 33 छात्राओं के वोट निरस्त किए गए। वहीं दूसरी ओर महारानी कॉलेज में 628 छात्राओं ने अपना नेता नहीं चुना। सभी ने नोटा पर मुहर लगाई।

विजेताओं को पडे एक तरफा मत
महारानी कॉलेज में विजेता प्रत्याशियों को भारी मतों से जीत मिली हैं। प्रतिद्बंन्धी प्रत्याशी विजेताओं को बहुत पीछे रहे। सभी विजेताओं को एक हजार से अधिक मत मिले। प्रत्याशियों में सबसे ज्यादा मत संयुक्त सचिव पर विजेता मोनिका राठौड 1559 मत मिले। इसके बाद महासचिव छोटी मीणा 1484 मत हासिल किए।

 

घोषणा के बाद भावुक हुए प्रत्याशी, रिकाउंटिंग की मांग करने लगे
महारानी कॉलेज में घोषणा के बाद अन्य प्रत्याशी छात्राएं भावुक हो गई। इस दौरान उन्होंने काउंटिंग पर आपत्ति दर्ज कर दी। प्रत्याशी रोने लगी और रिकाउंटिंग की मांग करने लगी।

 

इनके सिर आया महारानी का ताज
अध्यक्ष
विजेता : रितु बराला 1047
निकतम प्रत्याशी : संजना चौधरी 911

उपाध्यक्ष
विजेता : फातमा 1002
निकतम प्रत्याशी : दिव्या शर्मा 648

महासचिव
विजेता : छोटी मीणा 1484
निकतम प्रत्याशी : शीतल उमरवाल 614

संयुक्त सचिव
विजेता : मोनिका राठौड़ 1559
निकतम प्रत्याशी काजल छीपा 554

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned