प्रवासियों का भुगतान आधार पर 14 दिवसीय क्वारंटाइन अनिवार्य

जयपुर। केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय ( Union Ministry of Home Affairs ) की ओर से जारी दिशा-निर्देशों ( guidelines ) के अनुसार विदेश से आने वाले प्रवासियों को उनके द्वारा भुगतान आधार पर 14 दिन के क्वारंटाइन ( 14-day quarantine ) पर अनिवार्य रुप से रखा जाएगा। एसीएस उद्योग ( ACS Industries ) डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि विदेष से आने वाले सभी यात्रियों ( passengers coming from Videsh ) द्वारा वहां से रवाना होने से पहले इस पर सहमति दी जाती है। क्वारंटाइन अवधि पूरा होने पर स्वयं के भुगतान आधार पर कोर

By: Narendra Kumar Solanki

Updated: 23 May 2020, 07:57 PM IST

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि लंदन से आई फ्लाइट के एक बच्चे सहित सभी 149 प्रवासी यात्रियों को उनके द्वारा दिए गए सहमति पत्र और चयनित होटल में ही क्वारंटाइन पर रखने की व्यवस्था की गई है। संस्थागत क्वारंटाइन के लिए तीन श्रेणियों स्टैण्डर्ड, मीडियम और हाई श्रेणी के होटल्स निर्धारित है, जिसमें से आने वाले यात्री को स्वयं चयन करने का मौका दिया गया है। उन्होंने बताया कि विदेश से आने वाले सभी प्रवासी यात्रियों के लिए केन्द्र द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार एयरपोर्ट पर आवश्यक व्यवस्थाएं करने के साथ ही होटलों की व्यवस्था की गई है। एसीएस डॉ. अग्रवाल ने बताया कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार ही विदेश से आने वाले प्रवासियों के परिजनों से भी आग्रह किया गया है कि वे एयरपोर्ट व क्वारंटाइन वाले स्थानों पर मिलने के लिए ना आकर सरकार व प्रशासन को सहयोग करे।
सीएमडी आरवीपीएनएल दिनेश कुमार ने बताया कि एयरपोर्ट पर केन्द्र द्वारा जारी एडवाइजरी की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जा रही है। फ्लाइट के आते ही यात्रियों को 20-20 की संख्या में लाते हुए उनका और उनके लगेज आदि को सेनेटाइज करने के साथ ही मेडिकल टीम द्वारा थर्मल स्केनिंग, मेडिकल चेकअप, इमीग्रिएशन क्लियरेंस आदि करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इमीग्रेशन कलेक्शन के बाद सीआईएसएफ द्वारा नियुक्त अधिकारियों द्वारा लगेज व कस्टम क्लियरेंस के लिए ले जाया जाता हैै। इसके बाद पुलिस अधिकारियों की ओर से यात्रियों द्वारा 14 दिन के लिए चुने गए क्वारंटाइन सेंटर होटल में बस या अन्य वाहन से भिजवाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंस व प्रोटोकॉल की पालना में समय लगना स्वाभाविक है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned