script150 Rupee Recovery on free Adhar Card | नि:शुल्क आधार पर 150 की वसूली | Patrika News

नि:शुल्क आधार पर 150 की वसूली

ठीकरिया. सरकार ने भले ही आधार कार्ड पंजीयन निशुल्क की व्यवस्था दे रखी हो, लेकिन जिले में दनादन वसूली का खेल चल रहा है। स्थितियां यह है कि पंजीयन के अलावा संशोधन सहित कार्ड प्रिंटिंग के नाम से भी 150 रुपए से अधिक का शुल्क लिया जा रहा है। लंबे समय से जिला मुख्यालय पर चल रहे इस खेल के बावजूद इसे रोकने की दिशा में जिला प्रशासन किसी तरह का कदम नहीं उठा रहा है, जिससे लोगों के साथ छलावा हो रहा है। राजस्थान पत्रिका ने शनिवार को कुछ केंद्रों की पड़ताल की तो अवैध वसूली का सच भी कई जगह सामने आया।

जयपुर

Published: May 08, 2022 09:27:47 pm

बांसवाड़ा.

ठीकरिया. सरकार ने भले ही आधार कार्ड पंजीयन निशुल्क की व्यवस्था दे रखी हो, लेकिन जिले में दनादन वसूली का खेल चल रहा है। स्थितियां यह है कि पंजीयन के अलावा संशोधन सहित कार्ड प्रिंटिंग के नाम से भी 150 रुपए से अधिक का शुल्क लिया जा रहा है। लंबे समय से जिला मुख्यालय पर चल रहे इस खेल के बावजूद इसे रोकने की दिशा में जिला प्रशासन किसी तरह का कदम नहीं उठा रहा है, जिससे लोगों के साथ छलावा हो रहा है। राजस्थान पत्रिका ने शनिवार को कुछ केंद्रों की पड़ताल की तो अवैध वसूली का सच भी कई जगह सामने आया।
here_know_how_to_check_aadhar_card_authentication_status.jpg
उल्लेखनीय है कि जिले की 21 लाख 68 हजार की आबादी है। जिनमें से 19 लाख 18 हजार लोगों के आधार कार्ड बन गए हैं। इन आधार कार्ड को बनाने के लिए यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) ने जिले में आधार कार्ड पंजीयन और उसमें सुधार के लिए 60 केंद्र खोले हैं। हालांकि इनमें से कुछ केंद्र कभी-कभी बंद होते हैं। लेकिन जो केंद्र चल रहे हैं, उन पर लोगों को यह सेवा मुफ्त में नहीं मिल रही है। स्थिति यह है कि लोग आधार कार्ड पंजीयन के लिए जब केंद्र पर पहुंचते हैं तो केंद्र संचालक उनसे 150 रुपए से 200 रुपए तक वसूल रहे हैं। वहीं कुछ जागरूक लोग जब इसका विरोध करते है, तो उनका काम नहीं किया जाता है। सूत्रों के अनुसार कुछ लोगों ने इस संबंध में जिला प्रशासन से शिकायतें भी की है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर चौतरफा चुप्पी है।
निशुल्क आधार के 150 रुपए तक वसूली

पत्रिका संवाददाता ने जब मोहन कॉलोनी में एक बैंक के पीछे पद्मावती ई मित्र पहुंचा तो यहां आधार कार्ड बनवाने लोगों की लाइन लगी हुई थी। इस दौरान केंद्र संचालक से 14 साल के बच्चे के लिए आधार कार्ड बनाने का शुल्क पूछा तो उन्होंने नए आधार कार्ड बनाने के 150 रुपए शुल्क बताया। उसके साथ आधार कार्ड में सुधार करने पहुंचे अभ्यर्थी से 150 रुपए लिए गए। जबकि बायोमेट्रिक सुधार का 100 रुपए शुल्क है। यहां चल रही आधार कार्ड बनाने की मशीन छापरिया व झरनिया में संचालित करने के लिए स्वीकृत कर रखी है, लेकिन संचालक नियमों से परे यहां संचालन कर रहा है।
प्रिंट निकालने के 150 रुपए

अजय(बदला हुआ नाम) अपने आधार कार्ड में अपनी माता का नाम परिवर्तन कराने केंद्र पर पहुंचा। जहां पर नाम परिवर्तन करने के बाद 150 रुपए मांगे गए। उसने बताया कि पहले भी आधार कार्ड की प्रिंट निकालने के 150 लिए एवं अब सुधार के 150 ओर लिए जा रहे है। इस दौरान ई मित्र पर स्थित दो भाइयों ने भी आधार कार्ड बनाने के 150 रुपए देने की बात बताई।
ये भी कम नही

इधर जवाहर पुल पर स्थित श्रमिक कार्यालय में आधार कार्ड बनाने के लिए ग्रामीणों का जमावड़ा था। संवाददाता ने नया आधार कार्ड बनाने के बारे में पूछा तो बताया कि 150 रुपए में नया आधार कार्ड बन जाएगा।

फैक्ट फाइल

जिले की अनुमानित जनसंख्या- 21 लाख 68 हजार

आधार कार्ड जनरेट - 1917437

जिले में कुल सेंटर - 60

आधार नामांकन शुल्क- 00

बायोमेट्रिक अपडेशन- 100

संशोधन का ही शुल्क
आधार पंजीयन का कोई शुल्क नहीं है। संशोधन का 100 रुपए शुल्क है। यदि कहीं पर कोई अधिक राशि ली जा रही है तो इसकी जांच कराएंगे।

सत्येंद्र शाह, उपनिदेशक सूचना, प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग
छापरिया-झरनिया में संचालन की स्वीकृति, शहर में कर रहे काम

newsletter

Anand Mani Tripathi

आनंद मणि त्रिपाठी (@aanandmani) राजनीति, अपराध, विदेश, रक्षा एवं सामरिक मामलों के पत्रकार हैं। पत्रकारिता के तीनों माध्यम प्रिंट, टीवी और आनलाइन में गहरा और अपनी तेज तर्रार रिपोर्टिंग के लिए जाने जाते हैं। पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में जन्म हुआ। प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के कानपुर और बस्ती में हुई। माध्यमिक शिक्षा नवोदय विद्यालय बस्ती, फैजाबाद और पूर्वोत्तर त्रिपुरा के धलाई जिले में हुई। अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से स्नातक और 2009 में जेआईआईएमसी,दिल्ली से पत्रकारिता का डिप्लोमा किया। हरियाणा से पत्रकारिता आरंभ की। शिक्षा, विज्ञान, मौसम, रेलवे, प्रशासन, कृषि विभाग और मंत्रालय की रिपोर्टिंग की। इंवेस्टिगेटिव रिपोर्टिंग से शिक्षा और रेलवे विभाग के कई भ्रष्टाचार का खुलासा किया। रक्षा मंत्रालय के रक्षा संवाददाता पाठयक्रम-2016 पूरा किया। इसके बाद रक्षा मामलों की पत्रकारिता शुरू कर दी। चीन, पाकिस्तान और कश्मीर मामलों पर तीक्ष्ण नजर रहती है। लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की हत्या 2017, राइफलमैन औरंगजेब की हत्या 2018, जम्मू—कश्मीर में बदले 2018 में बदले राजनीतिक समीकरण, पुलवामा हमला 2019, कश्मीर से 370 का हटना, गलवान घाटी मुठभेड़ 2020 को बेहद करीब से जम्मू और कश्मीर में रहकर ही कवर किया। कोरोना काल 2020 में भी लददाख से नेपाल तक की यात्रा चीन के बदलते समीकरण को लेकर की। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव 2019 में जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और पंजाब की रिपोर्टिंग की। 9 नवंबर 2019 को श्रीराम जन्म भूमि अयोध्या मामले में आए फैसले की अयोध्या से कवर किया। 2022 उत्तरप्रदेश् चुनाव को सहारनपुर से सोनभद्र तक मोटर साइकिल के माध्यम से कवर किया। पत्रकारिता से इतर आनंद मणि त्रिपाठी को संगीत और पर्यटन का जबरदस्त शौक है। इन्हें किसी भी कार्य में असंभव शब्द न प्रयोग करने के लिए जाना जाता है...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: शिवसेना के एक बागी विधायक का बड़ा दावा, कहा- 12 सांसद जल्द शिंदे खेमे में होंगे शामिल6 और मंत्रियों ने दिया इस्तीफा, Britain के पीएम बोरिस जॉनसन की बढ़ी मुश्किलेंनकवी के इस्तीफे के बाद स्मृति ईरानी बनीं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री, सिंधिया को मिला स्टील मंत्रालयVideo: 'हर घर तिरंगा' के सवाल पर बोले Farooq Abdullah, 'वो अपने घर में रखना', भड़के यूजर्सMalaysia Masters: पीवी सिंधू, साई प्रणीत और परूपल्ली कश्यप पहुंचे दूसरे दौर में, साइना नेहवाल हुई बाहरMaharashtra Politics: शिवसेना के संसदीय दल में भी बगावत? उद्धव ठाकरे ने भावना गवली को चीफ व्हिप के पद से हटायाMukhtar Abbas Naqvi ने मोदी कैबिनेट से दिया इस्तीफा, बनेंगे देश के नए उपराष्ट्रपति?काली पोस्टर विवाद में घिरीं महुआ मोइत्रा के समर्थन में आए थरूर, कहा- 'हर हिन्दू जानता है देवी के बारे में'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.