15 अगस्त को राजस्थान सरकार को लगा बड़ा झटका—5वीं बार निरस्त हुआ 15वें वित्त आयोग का राजस्थान दौरा

राज्य की खराब आर्थिक स्थिति के बीच वित्त आयोग के दौरे के बाद बीते पांच दिन से कुछ मिलने की उम्मीद लगाए बैठी सरकार को गुरुवार को गणतंत्र दिवस पर दोपहर बाद मायूसी ही हाथ लगी। क्योंकि गुरुवार दोपहर बाद दिल्ली से राज्य वित्त आयोग के तीन दिवसीय दौरे के निरस्त होने की सूचना वित्त विभाग के अफसरों को मिली। अफसरों का कहना था कि पांचवी बार आयोग का दौरा निरस्त हुआ है। इससे पहले जनवरी से लेकर अब तक कई बार आयोग के दौरे की तैयारियां की गई लेकिन ऐन वक्त पर दौरा निरस्त हो गया ।
15वें वित्त आयोग की टीम का आज से प्रदेश में तीन दिवसीय दौरा शुरू हो रहा था। इस दौरे के बाद केन्द्रीय करों में राज्य का हिस्सा तय होना था और दौरे के बाद राज्य की जरूरतों के हिसाब से भी केन्द्रीय सहायता भी बढने की संभावना थी। वित्त विभाग के अफसरों के अनुसार आयोग के दौरे की तैयारियां जनवरी से लगातार चल रही थी। लेकिन हर बार ऐन वक्त पर दौरा निरस्त हो गया। गुरुवार को भी ऐसा ही हुआ। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सचिवालय मे गणतंत्र दिवस समारोह के बाद वित्त आयोग के दौरे को लेकर वित्त विभाग के अफसरों के साथ दौरे की तैयारियों की समीक्षा बैठक लेने वाले थे लेकिन इसी दौरान दिल्ली से दौरा निरस्त होने की सूचना सीएमओं के अफसरों को दिली से मिली तो दौरे की तैयारियेां में लगे अफसर मायूस हो गए।
अफसरों के अनुसार 15वें वित्त आयोग का दौरा पांचवी बार निरस्त हुआ है। दौरे से पहले राज्य सरकार पूरी तैयारी कर चुकी थी। बीते पांच दिन से भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद दौरे की तैयारियेां की मॉनिटरिंग कर रहे थे। मंगलवार ओर सोमवार को सीएम अशोक गहलोत ने रात दो बजे तक वित्त विभाग के अफसरों की अपने आवास और सीएमओं में मैराथन बैठकें भी ली थीं।

By: PUNEET SHARMA

Published: 16 Aug 2019, 09:07 AM IST

राज्य की खराब आर्थिक स्थिति के बीच वित्त आयोग के दौरे के बाद बीते पांच दिन से कुछ मिलने की उम्मीद लगाए बैठी सरकार को गुरुवार को गणतंत्र दिवस पर दोपहर बाद मायूसी ही हाथ लगी। क्योंकि गुरुवार दोपहर बाद दिल्ली से राज्य वित्त आयोग के तीन दिवसीय दौरे के निरस्त होने की सूचना वित्त विभाग के अफसरों को मिली। अफसरों का कहना था कि पांचवी बार आयोग का दौरा निरस्त हुआ है। इससे पहले जनवरी से लेकर अब तक कई बार आयोग के दौरे की तैयारियां की गई लेकिन ऐन वक्त पर दौरा निरस्त हो गया ।
15वें वित्त आयोग की टीम का आज से प्रदेश में तीन दिवसीय दौरा शुरू हो रहा था। इस दौरे के बाद केन्द्रीय करों में राज्य का हिस्सा तय होना था और दौरे के बाद राज्य की जरूरतों के हिसाब से भी केन्द्रीय सहायता भी बढने की संभावना थी। वित्त विभाग के अफसरों के अनुसार आयोग के दौरे की तैयारियां जनवरी से लगातार चल रही थी। लेकिन हर बार ऐन वक्त पर दौरा निरस्त हो गया। गुरुवार को भी ऐसा ही हुआ। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सचिवालय मे गणतंत्र दिवस समारोह के बाद वित्त आयोग के दौरे को लेकर वित्त विभाग के अफसरों के साथ दौरे की तैयारियों की समीक्षा बैठक लेने वाले थे लेकिन इसी दौरान दिल्ली से दौरा निरस्त होने की सूचना सीएमओं के अफसरों को दिली से मिली तो दौरे की तैयारियेां में लगे अफसर मायूस हो गए।
अफसरों के अनुसार 15वें वित्त आयोग का दौरा पांचवी बार निरस्त हुआ है। दौरे से पहले राज्य सरकार पूरी तैयारी कर चुकी थी। बीते पांच दिन से भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद दौरे की तैयारियेां की मॉनिटरिंग कर रहे थे। मंगलवार ओर सोमवार को सीएम अशोक गहलोत ने रात दो बजे तक वित्त विभाग के अफसरों की अपने आवास और सीएमओं में मैराथन बैठकें भी ली थीं।

PUNEET SHARMA Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned