स्कूटर-बाइकों से चुराया 2.60 लाख किलो चावल

क्या एक मोटरसाइकल से 16,000 किलो चावल ले जाया जा सकता है? सुनने में यह अजीब लग सकता है, लेकिन फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया और एक प्राइवेट कंपनी के दस्तावेज तो यही कहते हैं। एफसीआई के कुछ अधिकारियों और एक निजी कंपनी पर 2.60 लाख किलो चावल की चोरी करने का आरोप है। दोनों ने चावल को ट्रकों से ले जाने की बात कही थी, लेकिन इसके लिए उन्होंने जो लाइसेंस नंबर दिए गए थे, वे ट्रक की बजाय बाइक और स्कूटरों के थे।

By: Amit Baijnath

Published: 13 Aug 2019, 04:47 PM IST

नई दिल्ली। क्या एक मोटरसाइकल से 16,000 किलो चावल ले जाया जा सकता है? सुनने में यह अजीब लग सकता है, लेकिन फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया और एक प्राइवेट कंपनी के दस्तावेज तो यही कहते हैं। एफसीआई के कुछ अधिकारियों और एक निजी कंपनी पर 2.60 लाख किलो चावल की चोरी करने का आरोप है। दोनों ने चावल को ट्रकों से ले जाने की बात कही थी, लेकिन इसके लिए उन्होंने जो लाइसेंस नंबर दिए गए थे, वे ट्रक की बजाय बाइक और स्कूटरों के थे। एफसीआई की शिकायत के बाद सीबीआई ने मामले एफआईआर दर्ज की है। रिकॉर्ड के मुताबिक असम के सालचापरा रेल टर्मिनल से 9 लाख 19 हजार किलो चावल 57 ट्रकों के जरिए मणिपुर के कोइरेंगेई के लिए भेजा गया था। यह सामान अपने मुकाम पर दो महीने के बाद पहुंचा, जबकि 275.5 किलोमीटर की यह दूरी महज 9 घंटे में ही तय की जा सकती है। ये ट्रक 7 मार्च से 22 मार्च, 2016 के बीच रवाना किए गए थे।
हालांकि वेरिफिकेशन में पता चला कि 85 लाख रुपए की कीमत के 2601.63 क्विंटल चावल पहुंचा ही नहीं। इस चावल को 16 ट्रकों से पहुंचा गया था, लेकिन यह मुकाम पर पहुंचा ही नहीं। हालांकि रिकॉर्ड्स में यही दर्ज किया गया कि रवाना किया गया चावल पहुंच गया है। एफिडेविट पर ट्रांसपोर्टर्स ने बताया कि रास्ते में ट्रक खराब हो गए थे, इसके चलते दूसरे ट्रकों पर चावल को लादकर पहुंचाया गया। इसके चलते सामान के पहुंचने में देरी हुई। हालांकि दस्तावेजों के वेरिफिकेशन से पता चला है कि ट्रकों से उतारकर जिन वाहनों में सामान लादा गया, उनका लाइसेंस नंबर ट्रक का नहीं है। इसकी बजाय ये लाइसेंस नंबर एलएमएल स्कूटर, होंडा एक्टिवा, मोटरसाइकल, वाटर टैंक, बस, मारुति वैन, कार और अन्य वाहनों के थे। इन वाहनों का परिवहन विभाग के दफ्तरों में रजिस्ट्रेशन भी नहीं था। लाइसेंस नंबर के रिकॉर्ड से पता चलता है कि गायब हुए चावल की खेप में से 16,300 किलो और 10,000 किलो चावल की दो खेपें स्कूटर से ले जाई गईं। इसके अलावा 16,300 किलो चावल बाइक के जरिए ले जाया गया।

Amit Baijnath Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned