Monsoon मेहरबान! जयपुर में 2.8 इंच बारिश, डूब गई कारें, मनाली-शिमला जैसी हुई पिंकसिटी

Monsoon in Jaipur : जयपुर पहुंचा मानसून पीछे कैसे रह सकता था।  दिनभर में 71.3 एमएम यानी 2.8 इंच बारिश दर्ज की गई। यह बारिश ( Rain ) पिछले साल 2018 की मानसून की पहली बारिश के मुकाबले 47 एमएम ज्यादा दर्ज की गई। 2018 में मानसून ( Monsoon 2019 ) की पहली बारिश में 24 एमएम बारिश रेकॉर्ड की गई थी...

By: dinesh

Published: 07 Jul 2019, 08:10 AM IST

जयपुर। विश्व धरोहर सूची ( UNESCO World Heritage Site ) में जैसे ही जयपुर का नाम आया, चारों ओर शहर में लोगों में खुशी छा गई। ऐसे में जयपुर पहुंचा मानसून ( Monsoon in Jaipur ) पीछे कैसे रह सकता था।  मेघ भी मेहरबान हो गए। दिनभर में 71.3 एमएम यानी 2.8 इंच बारिश दर्ज की गई। यह बारिश पिछले साल 2018 की मानसून की पहली बारिश के मुकाबले 47 एमएम ज्यादा दर्ज की गई। 2018 में मानसून ( monsoon 2019 ) की पहली बारिश में 24 एमएम बारिश रेकॉर्ड की गई थी। बारिश के बाद राजधानी के लोगों ने राहत की सांस ली। जयपुर का अधिकतम तापमान 28 डिग्री दर्ज किया गया।  शाम को पारा 24 डिग्री पर आ गया। पारा गिरने से लोगों को दिन में मनाली और शाम को शिमला का अनुभव होने लगा। शनिवार को दिन का मनाली का तापामन 27.8 तो शिमला का शाम को तापमान 23.7 डिग्री दर्ज किया जो जयपुर के दिन और शाम के तापमान के करीब ही था।

 

सडक़ें लबालब, जाम से जूझा शहर
पहली बारिश में ही जिला प्रशासन, निगम और जेडीए की मानसून तैयारियों की पोल खुल गई। शहर में सडक़ें लबालब हो गई। नालों से गंदा पानी बाहर सडक़ पर आने लगा। पानी भरने के बाद शहर के जेएलएन मार्ग, परकोटा, सोडाला, अजमेर रोड आदि स्थानों पर जाम लग गया। मालवीय नगर में कई वाहन पानी में डूब गए।

 

इधर, जयपुर कलक्ट्रेट भूल गया बारिश दर्ज करना
पूरे शहर में बारिश ने राहत दी, लेकिन जयपुर कलक्ट्रेट पर पानी नहीं बरसा। कलक्ट्रेट कंट्रोल रूप कर्मचारियों का यही कहना है। राजधानी के सभी इलाकों में जोरदार बारिश हुई। इतना ही नहीं जयपुर कलेक्ट्रेट पर भी पानी बरसा। लेकिन कंट्रोल रूम में बारिश को दर्ज नहीं किया गया। मौसम विभाग के जयपुर एयरपोर्ट ने 71.3 एमएम बारिश दर्ज की। जबकि कलक्ट्रेट कंट्रोल रूम में बारिश दर्ज नहीं होना बताया।

 

दिन में तीन बार रुक-रुक बारिश
सुबह पौने 11 बजे बारिश शुरू हो गई। 20 मिनट तक टोंक रोड, मालवीय नगर, जगतपुरा, वैशाली, सी स्कीम आदि जगह बारिश हुई। साढ़े 12 बजे करीब आधे घंटे बारिश हुई। करीब चार बजे जोरदार बारिश हुई जो 45 मिनट तक हुई। करीब 2.8 इंच बारिश दर्ज हुई।

 

Shastri Nagar Rape Case : एक सप्ताह में दो बच्चियों के साथ बलात्कार के आरोपी ने किए कई चौंकाने वाले खुलासे

 

Rain

मेघ मल्हार: छाया मानसून, वागड़ तर ( rajasthan weather forecast )
पूर्वी राजस्थान में मानसून पूरी तरह से छा गया है। शनिवार को जयपुर, प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, कोटा समेत कई जिलों में तेज बारिश हुई। जयपुर में दिनभर में 71.3 एमम बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग ने 15 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। पिछले 24 घंटों में प्रदेश में सर्वाधिक बारिश प्रतापगढ़ में साढ़े पांच इंच, झालावाड़ जिले के असनावर में साढ़े तीन इंच, झालावाड़ में तीन इंच, बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ में ढाई इंच, चित्तौडगढ़़ के बेगूं में तीन इंच और कोटा में डेढ़ इंच दर्ज की गई।

 

हादसे में दो की मौत
बांसवाड़ा के सज्जनगढ़ में चोरा छोटा गांव में शनिवार सुबह मकान ढहने से 12 वर्षीय बालिका अनुज की मौत हो गई। पाली के गोलकी गांव में नाड़ी में डूबने से वृद्ध पूनम सिंह की मौत हो गई।

 

संपर्क कटा
कोटा के सांगोद क्षेत्र में उजाड़ नदी और रावतभाटा क्षेत्र मेें गुंजाली व ब्राह्मणी नदी के उफान पर होने से कई गांवों का सम्पर्क कट गया है।

 

कहां कितनी बारिश
प्रतापगढ़----140
असनावर(झालावाड़)---- 90
भीलवाड़ा---- 75
बेगूं---- 70
जयपुर---- 71.3
कोटा---- 37.6
चित्तौडगढ़़---- 32
अंता (बारां)---- 61
(बारिश मिमी में)

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned