शराब पीकर चला रहा था बस,मिली दो दिन जेल की सजा

(ACMM 27 )एसीएमएम नंबर 27 (Jaipur Metro) जयपुर महानगर ने बिना वैध लाईसेंस के (Drunken Driver) शराब पीकर लो-फ्लोर बस चलाने वाले ड्राइवर प्रवीण कुमार को (2 says imprisonment) दो दिन की जेल और 2600 रुपए (Penalty) जुर्माने की (sentence) सजा से दंडित किया है।

जयपुर

(ACMM 27 )एसीएमएम नंबर 27 (Jaipur Metro) जयपुर महानगर ने बिना वैध लाईसेंस के (Drunken Driver) शराब पीकर लो-फ्लोर बस चलाने वाले ड्राइवर प्रवीण कुमार को (2 says imprisonment) दो दिन की जेल और 2600 रुपए (Penalty) जुर्माने की (sentence) सजा से दंडित किया है। अभियुक्त को ट्रैफिक पुलिस ने 13 फरवरी की रात को चैकिंग के दौरान शराब पीकर बिना लाईसेंस के बस चलाते हुए पकड़ा और एएसआई प्रहलाद शर्मा ने अभियुक्त के खिलाफ कोर्ट में इस्तगासा पेश किया था।
14 फरवरी को कोर्ट ने अभियुक्त को एमवी एक्ट की धारा-१८५ सहित कई धाराओं में दोषी माना तो अभियुक्त ने अपना अपराध स्वीकार करके परिवीक्षा का लाभ देने की गुहार की थी। कोर्ट ने उसे धारा-185 में दो दिन के कारावास सहित अन्य धाराओं में कुल 2600 रुपए जुर्माने की सजा से दंडित किया और जेल भेज दिया।

जीवन संकट है संकट में....

पीठासीन अधिकारी मोहित व्यास ने आदेश में कहा है कि एमवी एक्ट की धारा-185 के तहत प्रति 100 एमएल में 30 एमजी से ज्यादा अल्कोहल होने पर दंडनीय अपराध है। अभियुक्त तीन गुणा से ज्यादा मात्रा में शराब पीकर बिना वैध लाईसेंस के बस चला रहा था और वो भी यादगार तिराहे जैसी जगह पर। दुर्घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इससे सड़क पर चलने वाले लोगों का जीवन संकट में पड़ गया है। दुर्घटना में ना केवल अनेक लोगों की मृत्यु होती है बल्कि मृतकों के परिवार के भविष्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

लो-फ्लोर बस सेवा जयपुर के सार्वजनिक परिवहन की रीढ़ है और नागरिक बस में ड्राइवर पर भरोसा करके सवारी करते हैं। यदि ड्राइवर यदि शराब पीकर ड्राइविंग करता है तो वह ना केवल स्वयं की बल्कि सवारियों और सड़क पर चलने वालों की जिंदगी को भी खतरे में डालता है। इससे समाज और देश को कभी पूरा नहीं होने वाला नुकसान होता है। सुप्रीम कोर्ट कह चुका है कि शराब पीकर ड्राईविंग करने वालों को उदारता से परिवीक्षा का लाभ देने के स्थान पर कठोर रुख अपनाना चाहिए। अभियुक्त को यदि परिवीक्षा का लाभ दिया जाता है तो समाज में गलत संदेश जाएगा और एेसे अपराधों को बढ़ावा मिलेगा।

Mukesh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned