आनंदपाल व लॉरेंस गैंग के गुर्गे मांग रहे थे रंगदारी, फायर कर फैलाई दहशत

आनंदपाल व लॉरेंस गैंग के गुर्गे मांग रहे थे रंगदारी, फायर कर फैलाई दहशत

Nidhi Mishra | Updated: 20 Jul 2019, 11:52:42 AM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

झोटवाड़ा पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों आनंदपाल व लॉरेंस के गुर्गे बताए जा रहे हैं।

जयपुर। झोटवाड़ा में आनंदपाल ( anandpal gang ) व लॉरेंस गैंग ( gangster lawrence Vishnoi ) के गुर्गों ने एक प्रॉपर्टी व्यवसायी से रंगदारी मांगी, देने से मना करने पर उसके घर के बाहर आकर फायर कर दिया। मामले में झोटवाड़ा पुलिस ने दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। थानाधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि कल्याण कुंज कालवाड़ रोड निवासी उदयवीर सिंह उर्फ लक्की (30) और अग्रसेन नगर झोटवाड़ा निवासी नीरज जांगिड़ (27) को गिरफ्तार किया है।

 


16 जुलाई को कांटा चौराहे के पास सीता विहार कॉलोनी निवासी प्रोपर्टी व्यवसायी नरेन्द्र सिंह के घर के बाहर दो युवक आकर रुके और उसे आवाज देने लगे। नरेन्द्र की मां ने उन्हें कहा कि वह सो रहा है तो गाली-गलौच करते हुए देसी कट्टे से हवा में फायर कर भाग गए। तफ्तीश में सामने आया कि उदय व नरेन्द्र साथ में पढ़े हुए हैं। उदय ने उसे फायरिंग से एक दिन पहले खिरणी फाटक बुलाया था और 25 हजार रुपए हर महीने रंगदारी देने के लिए धमकाया था। नरेन्द्र के मना करने पर उसने कहा था कि अगले दिन देख लेना हम क्या कर सकते हैं। आरोपियों ने दहशत फैलाने के लिए उसके घर जाकर फायर किया था।

 


पुलिस ने बताया कि कुछ साल पहले विद्याधर नगर इलाके में हिम्मत सिंह हत्याकांड में उदय ने आनंदपाल गैंग के लिए रैकी की थी। गैंग से जुड़े हुए होने के चलते पुलिस टीम आनंदपाल की मां के देहांत के बाद उसके गांव भी गई थी, ताकि आरोपी वहां पहुंचे तो उन्हें दबोच लिया जाए। हालांकि वह नहीं गया था। उनके पास से एक देसी कट्टा भी बरामद किया है। दोनों को शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। उदय के विरुद्ध छह और नीरज के विरुद्ध 3 मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज है।

 


प्रॉपर्टी व्यवसायी के घर पर फायर
वहीं गुरुवार देररात को भी झोटवाड़ा इलाके में फायरिंग का मामला सामने आया है। अलवर हाल गणेश नगर में किराए पर रह रहे सरजीत सिंह चौहान ने रिपोर्ट दी है कि गुरुवार रात करीब 12 बजे उन्हें गोली चलने की आवाज आई। घर से बाहर आकर देखा तो कोई नहीं मिला। फिर लगा कि बाहर खड़ी बाइक का टायर फटा होगा। लेकिन जैसे ही घर में जाने लगे तो कमरे के लकड़ी के गेट पर दो फायर किए हुए दिखे। पुलिस ने मौका मुआयना कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि सरजीत पूर्व में शराब का व्यवसाय करता था। इस बार उसके ठेका नहीं निकला तो वह एक ठेका किसी का लेना चाह रहा था और उसे ठेके को सागर व संग्राम सिंह भी लेना चाह रहे थे। दोनों पक्षों के बीच विवाद के चलते आवंटी ने ठेका देने से मना कर दिया। पीडि़त ने संभावना जताई है कि उन्होंने फायर किया होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned