राजस्थान को राहत : ऊर्जा ​सचिव के दिल्ली पहुंचते ही कोयले की 20 रैक रवाना

ऊर्जा सचिव ने केन्द्रीय कोल सचिव के साथ की बैठक

By: Bhavnesh Gupta

Published: 13 Oct 2021, 08:32 PM IST

नई दिल्ली/ जयपुर. देशव्यापी बिजली संकट के बीच राजस्थान के लिए बुधवार को राहत की खबर आई। राजस्थान के ऊर्जा सचिव सुबोध अग्रवाल की कोल सचिव व पर्यावरण सचिव से मुलाकात के बाद कोल इंडिया से 8 रैक मिली। इसके अलावा छत्तीसगढ़ में राज्य विद्युत उत्पादन निगम की कोल खदान से 12 रैक डिस्पेच की गई। इस तरह लम्बे समय बाद राजस्थान के बिजलीघरों से कोयले की 20 रैक रवाना हुई। अभी राज्य के बिजलीघरों को हर दिन 21 रैक की जरूरत है।
इस बीच अग्रवाल ने दिल्ली में केन्द्रीय कोयला सचिव अनिल जैन से कोयला की आपूर्ति बढ़ाने सहित विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। जैन ने राजस्थान के लिए कोयला की आपूर्ति में लगातार सुधार के लिए आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि बारिश व अन्य कारण से आपूर्ति प्रभावित हुई है, जिसे जल्दी ही सामान्य कर दिया जाएगा। अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देश पर वह दिल्ली आए हैं। कोल इंडिया की सहायक इकाइयों और विद्युत उत्पादन निगम व अडानी के संयुक्त उपक्रम से कोयले की पांच रैक अधिक मिलने से राहत मिली है। कोयले की रैक डिस्पेच मात्रा में सुधार के साथ ही विद्युत उत्पादन और आपूर्ति में तेजी से सुधार आएगा।
इस बीच सुबोध अग्रवाल ने केन्द्रीय सचिव वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय आरपी गुप्ता से भी मुलाकात की। राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम और अड़ानी के संयुक्त उपक्रम परसा ईस्ट एवं कांता बासन की द्वितीय चरण वन भूमि के हस्तांतरण पर चर्चा हुई। केन्द्रीय पर्यावरण सचिव ने स्वीकृति पर शीघ्र कार्यवाही का भरोसा दिलाया।

इस तरह मिली 20 रैक
-कोल इंडिया की सहायक कंपनी एनसीएल से से 4 रैक
-एसईसीएल से जहां पहले 1 रैक मिल रही थी, वह बढकऱ 4 रैक हुई
-विद्युत उत्पादन निगम और अडानी के संयुक्त उपक्रम से 12 रैक

Bhavnesh Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned