कोरोना खात्मे के लिए 2021 रहेगा खास, वैक्सीनेशन के लिए तैयारियां जारी

कोरोना महामारी ( Corona epidemic ) से निजात पाने की दिशा में नया साल ( New year 2021 ) बेहद खास रहेगा। इस महामारी से निपटने के लिए अब तक की गई तमाम कोशिशों के तहत हमें कोविड-19 की वैक्सीन ( Covid 19 vaccine ) नए साल में मिलेगी।

By: Ashish

Published: 24 Dec 2020, 09:40 PM IST

जयपुर/ आशीष शर्मा
कोरोना महामारी ( Corona epidemic ) से निजात पाने की दिशा में नया साल ( New year 2021 ) बेहद खास रहेगा। इस महामारी से निपटने के लिए अब तक की गई तमाम कोशिशों के तहत हमें कोविड-19 की वैक्सीन ( Covid 19 vaccine ) नए साल में मिलेगी। हालांकि केंद्र ने राज्‍य सरकारों को साथ लेकर चार महीने पहले ही कोविड टीकाकरण की तैयारियां शुरू कर दी थीं। राज्‍य, जिला और ब्‍लॉक लेवल पर टास्‍क फोर्सेज बनाई गई हैं। मास्‍टर ट्रेनर्स को ट्रेनिंग दी जा चुकी है। तैयारियां लगातार जोर शोर से चल रही हैं। ऐसे में नए साल में कोविड 19 के वैक्सीनेशन को लेकर खास तरह का बदलाव देखने को मिलेगा।

राजस्थान की बात करें तो राज्य में कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए कोविड-19 प्रतिरक्षण टीकाकरण का पहला चरण नए साल में शुरू होगा। इसके लिए जरूरी तैयारियां पहले ही शुरू की जा चुकी हैं। राज्य में टीकाकरण के लिए अधिक से अधिक सेंटर्स चिन्हित करने के साथ ही हर जिले में ब्लॉक स्तर तक कॉर्डिनेशन रखने की व्यवस्था को लेकर भी निर्देश दिए गए हैं। कोविड—19 के वैक्सीनेशन से पहले राजस्थान में इसका ट्रायल भी हुआ। भारत बायोटेक के ‘को-वैक्सीन‘ का तीसरा ट्रायल जयपुर में शुरू किया गया।

पहले चरण में इन्हें मिलेगी वैक्सीन

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. रघु शर्मा यह बात कह चुके हैं कि पहले चरण में कोविड-19 वैक्सीन प्रदेश के राजकीय एवं निजी चिकित्सा सेवा महिला-बाल विकास के विभाग के कार्मिकों यानि फ्रन्टलाइन वॉरियर्स को कोविड-19 वैक्सीन लगाकर प्रतिरक्षित किया जाएगा। इसे लेकर राज्य में वैक्सीनेशन की तैयारियां की जा रही हैं। इसके लिए 2 हजार 444 कोल्ड चैन वैक्सीनेशन पाॅइन्ट्स चयनित जिला अस्पतालों और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर किए हैं। जोधपुर, जयपुर और उदयपुर में 3 राज्यस्तरीय वैक्सीन सेंटर औरथा 7 संभागस्तरीय वैक्सीन सेंटर बनाए गए हैं। इसके अ लावा राज्य में सभी जिलों में जिला कलेक्टर के नेतृत्व में एक जिला स्तरीय टास्क फोर्स फार इम्युनाइजेशन टीमें भी बनाई गई हैं।

लाभार्थियों का डेटाबेस होगा तैयार

वैक्सीनेशन में खास बात यह रहेगी कि वैक्सीनेशन के लाभार्थियों का पूरा डेटाबेस तैयार किया जाएगा। यह डेटाबेस केन्द्रीय केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी की गई गाईडलाईन के मुताबिक किया जाएगा। जिसमें टीकाकरण के लाभार्थियों की गणना की जाएगी और उन से संबंधित जरूरी डाटाबेस ‘कोविन‘ साफ्टवेयर में अपलोड किया जाएगा। कोविड-19 वैक्‍सीन डिलिवरी की रियल-टाइम में मॉनिटरिंग हो सकेगी। इसका मोबाइल ऐप भी विकसित किया गया है।

गहलोत ने कहा, नि:शुल्क मिले वैक्सीन

वैक्सीनेशन को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत यह कह चुके हैं कि केन्द्र सरकार निःशुल्क वैक्सीन लगाने की स्पष्ट घोषणा करके इसकी जानकारी समय पर दे। क्योंकि आम लोग वैक्सीन के लिए बड़ी कीमत चुकाने की स्थिति में नहीं हैं। राज्य स्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री जिम्मेदार अफसरों को यह निर्देश भी दिए हैं कि किसी भी अन्य टीकाकरण अभियान की तरह कोविड वैक्सीन भी सभी के लिए और निःशुल्क मिलनी चाहिए। साथ ही टीकाकरण में राजस्थान उसी तरह से मॉडल राज्य के रूप में सामने आए जिस तरह से कोविड संक्रमण को रोकने के लिए शुरूआती तैयारियों में ही राज्य मॉडल स्टेट के रूप में उभरा।

चुनाव की तरह बनेंगे वैक्सीनेशन बूथ

वैक्सीनेशन के लिए चुनाव की तरह ही बूथ बनाए जाएंगे। एक बूथ पर तीन कक्ष आरक्षित होंगे। प्रवेश और निकास के लिए अलग-अलग गेट बनाए जाएंगे। एक बूथ पर कम से कम चार-पांच लोगों की टीम तैनात होगी। साथ ही वैक्सीनेशन के प्रति आमजन को जागरूकता भी किया जाएगा। चिकित्सा विभाग में जारी तैयारियों के मुताबिक सभी तैयारियां पूरी होने के बाद लाभार्थियों के मोबाइल पर ऑटो जनरेट मैसेज आएगा कि वैक्सीन कब, कहां, किस दिन टीका लगेगा। डाटा के लिए को-विन पोर्टल भी बनाया गया है।

निचले स्तर तक ‘माइक्रो-प्लानिंग’ के निर्देश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से टीकाकरण के लिए ‘माइक्रो-प्लानिंग’ के साथ ही आबादी को टीका लगाने की प्रक्रिया कम समय में पूरी करने के लिए भी जरूरी दिशा निर्देश दिए गए हैं। इसके तहत जरूरत इस बात की जताई गई है कि टीकाकरण केन्द्रों की संख्या ज्यादा से ज्यादा हो। इसके लिए केन्द्रीय दिशा-निर्देशों के अनुरूप वैक्सीन के सुरक्षित भण्डारण और वैक्सीनेशन केन्द्र चिन्हित किए जा रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned