पलायन कर रहे 2115 व्यक्तियों को शेल्टर होम में भेजा

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केन्द्र की सख्ती के बाद राज्य सरकार भी सख्त हो गई हैं। जयपुर शहर की सीमाएं सील कर दी गई और शहर के प्रवेश मार्गों पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया हैं।

By: Lalit Tiwari

Updated: 31 Mar 2020, 10:03 PM IST

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केन्द्र की सख्ती के बाद राज्य सरकार भी सख्त हो गई हैं। जयपुर शहर की सीमाएं सील कर दी गई और शहर के प्रवेश मार्गों पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया हैं। उधर परकोटा में कर्फ्यू जारी है। इसी के साथ धारा 144 की अवधि को भी 14 अप्रेल तक बढ़ा दिया गया है। पुलिस ने किराएदार और मजदूर वर्ग को भ्रमित कर पलायन करने के लिए मजबूर करने वाले मकान मालिकों और फैक्ट्री मालिकों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने की बात कही हैं। पुलिस ने जयपुर शहर से पलायन कर रहे 2115 व्यक्तियों को पुलिस ने शेल्टर होम में भेजा।
पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि जयपुर शहर में पलायन कर अन्य जिलों और राज्यों से आ रहे दिहाड़ी मजदूरों के ठहरने और आवश्यक साम्रगी उपलब्ध करवाने के लिए अलग अलग थाना क्षेत्र में 45 शेल्ट होम बनाए हैं। शेल्टर होम पर प्रशासन की ओर से आवास, भोजन एवं पानी की व्यवस्था की गई हैं। शेल्टर होम में बाहरी राज्यों जिलों से पलायन कर आ रहे 2115 मजदूरों को ठहराया गया हैं। शेल्टर होम पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात कर गश्त और निगरानी जारी है, ताकि लोगों का पलायन रोका जा सकें।

लॉक डाउन और धारा 144 की अवधि 14 अप्रेल तक बढ़ाई-
जयपुर शहर में कर्फ्यू से प्रभावित पूरे क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया गया और क्षेत्र को सेनेटाइज किया गया। कर्फ्यू से प्रभावित पूरे क्षेत्र में आवश्यक साम्रगी दूध, सब्जी और खाने पीने के सामान का ई रिक्शा से वितरण किया गया। पुलिस ने व्यापारियों से मीटिंग कर कर्फ्यू प्रभावित चार दीवारी क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं के वितरण की सेक्टर वाईज ऑनलाइन, होम डिलीवरी का प्लान तैयार किया गया है। जयपुर शहर में लॉक डाउन और धारा 144 की अवधि 14 अप्रेल तक बढ़ाई गई है।

लॉक डाउन उल्लंघन करने पर 303 अनाधिकृत वाहन जब्त, अब तक 3,154 वाहन जब्त
जयपुर शहर में लॉक डाउन घोषणा के बाद से प्राइवेट और सार्वजनिक परिवहन के साधनों मिनी बस, बस, ऑटो टैक्सी, और ई रिक्शा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के लिए 262 स्थानों पर पुलिस नाकाबंदी की जा रही है। तथा लॉक डाउन का उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर जयपुर शहर में कुल 303 वाहनों को जब्त किया गया। जब्त किए गए वाहनों में दो पहिया 227 और अन्य 76 वाहन जब्त किए गए।

धारा 144 का उल्लघन करने पर 6 जने गिरफ्तार
कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए शहर में पांच या पांच से अधिक लोगों को एक जगह पर इकट्ठा होने के प्रतिबंध के बावजूद धारा 144 का उल्लंघन करने पर पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया। अब तक लॉक डाउन और धारा 144 का उल्लंघन करने के मामले में पुलिस 34 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं।

अफवाह फैलाने वाले 11 जने गिरफ्तार-
सोशल मीडिया के दुरुपयोग और अफवाह फैलाने के आरोप में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया हैं। सोशल मीडिया पर कोरोना के संक्रमण की भ्रामक अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों के खिलाफ साईबर सैल पुलिस आयुक्तालय और तकनीकी सैल जयपुर की ओर से निगरानी रखी जा रही है।

किराएदार और मजदूर वर्ग को परेशान किया तो होगी कार्रवाई-
पुलिस ने लॉक डाउन के दौरान बाहरी राज्यों जिलों से मजदूरों का पलायन के दौैरान यह सामने आया कि मकान मालिकों और फैक्ट्री मालिकों की ओर से भ्रमित कर उन्हें गांव या राज्यों में पलायन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। ऐसे मकान मालिकों और फैक्ट्री मालिकों पर पुलिस कार्रवाई करेगी।

Corona virus
Lalit Tiwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned