महज 23 साल की उम्र में राजस्थान की ज्ञानगढ़ ग्राम पंचायत की सरपंच बनी वर्षा

गांव की बेटी को सौंपी विकास की कमान

जयपुर। जिले की करेड़ा पंचायत समिति की ज्ञानगढ़ ग्राम पंचायत में युवा महिला सरपंच वर्षा टांक को गांव के विकास की कमान सौंपी है। महज 23 साल की वर्षा टांक राजस्थान सरपंच चुनाव 2020 के सबसे कम उम्र के सरपंचों में से एक है। वह खुद गांव में बाइक से घर—घर जाकर लोगों से मिलती हैं। उनका कहना है कि वो अपनी शादी से पहले गांव को बदलता हुआ देखना चाहती हूं। वर्षा अभी उदयपुर में एमएससी फाइनल ईयर की पढ़ाई कर रही हैं। गांव वालों ने बेटी में जज्बा देखा तो गांव की सरपंच बना दिया।

बेटियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण

वर्षा गांव की बेटियों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण देना चाहती हैं। साथ ही वो चाहती हैं कि गांव में आए दिन होने वाली चोरियों की वारदात पर रोकथाम हो। इसके लिए वे खुद गांव के लोगों को जागरुक कर रही हैं। इसके अलावा गांव के विकास कार्यों पर भी उनका खास ध्यान है।

बेटी का जज्बा देख गांव वालों ने दिया साथ

सरपंच वर्षा टांक के दो बहनें व एक भाई है। सबसे छोटी बहन इशाना 12वी की पढाई कर रही है। सुरभि टांक वर्तमान में पायलट की तैयारी कर रही है। बड़ा भाई अभिषेक टांक ग्रेनाइट व्यवसायी है। वर्षा के पिता कन्हैया लाल टांक ज्ञानगढ विद्यालय में व्याख्याता है और माता सज्जनकंवर गृहिणी है। चुनाव में महिला सीट आई तो वर्षा ने चुनाव लडऩे की इच्छा जताई। शुरुआत में गांव वालों ने कहा, गांव की बेटी है तो शादी के बाद ससुराल चली जाएगी लेकिन वर्षा का गांव के प्रति जज्बा देखा तो 206 वोटों से जीता दिया।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned