245 बांध, खाली पिछले साल के मुकाबले 10.60 फीसदी कम आया

जमकर बरसा मानसून
फिर भी 245 बांध खाली
पिछले साल के मुकाबले 10.60 फीसदी कम आया

By: Rakhi Hajela

Published: 13 Sep 2021, 09:08 AM IST


जयपुर।
प्रदेश में बरसात का दौर लगातार जारी है लेकिन इसके बाद प्रदेश में सामान्य की तुलना में अभी भी 2.7 फीसदी बरसात कम हुई है और प्रदेश के 245 बांध खाली हैं। जल संसाधन विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 134 बांध ही पूर्ण से भरे हुए हैं। आंशिक रूप से भरे हुए बांधों की संख्या 326 है। इन बांधों में अब तक पिछले साल के मुकाबले 10.60 फीसदी पानी भी कम आया है। यह आकड़े 12 सितंबर तक के हैं।
बांधों की वर्तमान स्थिति
प्रदेश में छोटे बड़े मिलाकर कुल 727 बांध हैं जिसमें से 245 बांध 12 सितंबर तक हैं और इन्हें बरसात का इंतजार है। इसमें से 4.25 मिलियन क्यूबिक मीटर एमक्यूएम से अधिक भराव क्षमता के 278 बांध में से 78 बांध खाली हैं। 140 आंशिक भरे हुए हैं और 59 पूर्ण भरे हुए हैं। 4.25 एमक्यूएम के कम भराव के बांध की बात की जाए तो 167 रिक्त हैं। जबकि विभाग के पास 21 बांधों की सूचना अभी नहीं मिल पाई है। 186 बांध आंशिक भरे हुए हैं और 75 बांध पूर्ण रूप से भरे हुए हैं।
पानी को तरस रहे जोधपुर संभाग के बांध
राजस्थान के सभी बांधों में पानी की आवक की बात करें तो प्रदेश चार संभागों जयपुर, जोधपुर,कोटा और उदयपुर संभाग में विभक्त है। जयपुर संभाग में 261 बांध हैं, जिनकी पूर्ण भराव क्षमता 2671.12 एमक्यूएम है, जो 12 सितंबर तक तक 960.34 एमक्यूएम यानि 36.0 फीसदी भरे हुए हैं। जोधपुर के 123 बांधों की कुल भराव क्षमता 976.90 एमक्यूएम है और अब तक59.03 एमक्यूएम पानी है। यानि इनमें अब तक मात्र 6.0 फीसदी पानी ही आया है। कोटा के 87 बांध की भराव क्षमता 4337.74 एमक्यूएम है और अभी तक4096.19 एमक्यूएम पानी आ चुका है है। यानि 94.4 प्रतिशत। इसी प्रकार उदयपुर के 256 बांधों की कुल भराव क्षमता 4640.55 एमक्यूएम है और वर्तमान में इसमें 2698.04 एमक्यूएम पानी है जो 58.1 प्रतिशत है। राजस्थान के सभी बांधों की कुल भराव क्षमता 12626.32 एमक्यूएम है और जिनमें वर्तमान में 7813.60 एमक्यूएम पानी है यानी अब यह 61.88 फीसदी ही भर पाए हैं।

पिछले मानसून से इस बार आया अधिक पानी
पिछले साल मानसून में 12 सितंबर तक प्रदेश के सभी बांधों में 9025.67 एमक्यूएम पानी था,जो कुल भराव क्षमता का 71.48 फीसदी रहा। जबकि इस बार 12 सितंबर तक बांधों में ं 7813.60 एमक्यूएम यानी 61.88 फीसदी आ चुका है जो गत वर्ष के मुकाबले 10.60 फीसदी कम है। प्रदेश के बड़े बांधों की बात करें तो 22 बड़े बांधों की पूर्ण भराव क्षमता 8104.66 एमक्यूएम हैए जबकि वर्तमान में भराव 5787.61 एमक्यूएम है। यानि इनमें 71.41 फीसदी पानी आ चुका है। 4.25 एमक्यूएम से अधिक भराव क्षमता वाले मध्यम और लघु 256 बांधों की भराव क्षमता 3656.42 एमक्यूएम है, इनमें 12 सितंबर तक 1746.34 एमक्यूएम पानी आ चुका है यानी यह बांध 47.76 फीसदी भर पाए हैं। वहीं 4.25एमक्यूएम से कम भराव क्षमता वाले 449 बांधों की कुल भराव क्षमता 865.25 एमक्यूएम है जो अभी 279.66 एमक्यूएम ही भर पाए हैं यानी इसमें अब तक केवल 32.32 फीसदी पानी ही आया है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned