27 हजार पंचायत सहायक हड़ताल पर

27 हजार पंचायत सहायक हड़ताल पर
कर रहे नियमितिकरण की मांग
प्रदेश की ग्राम पंचायतों का कामकाज ठप्प
शिक्षा मंत्री के बयान से नाराज पंचायत सहायक
काली पट्टी बांधकर जिला कलेक्टर को दिया ज्ञापन

By: Rakhi Hajela

Published: 08 Mar 2021, 06:50 PM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Education Minister Govind Singh Dotasara) की ओर से विधानसभा (Assembly) में पंचायत सहायक और पैराटीचर्स के नियमितिकरण के बयान से नाराज पंचायत सहायक सोमवार को सामूहिक हड़ताल पर रहे। राजधानी जयपुर सहित पूरे प्रदेश में पंचायत सहायकों हाथ में काली पट्टी बांधकर रैली निकाली और जिला कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन दिया।
राजस्थान विद्यार्थी मित्र पंचायत सहायक संघ के संयोजक रामजीत पटेल ने कहा कि शिक्षा मंत्री के बयान से पंचायत सहायकों में भारी आक्रोश है। एक तरफ मुख्यमंत्री बजट में संविदाकर्मियों के लिए सेवा नियम बनाने की घोषणा कर चुके हैं और अब शिक्षा मंत्री कह रहे हैं कि इस पर कभी चर्चा ही नहीं हुई। उन्होंने कहा कि राजस्थान विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के घोषणा पत्र में भी पैराटीचर्स का नियमित करने का वादा किया गया था।
यह बयान दिया था शिक्षामंत्री ने-
आपको बता दें कि हाल ही में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि शिक्षा विभाग के तहत कार्यरत 10 हजार पैराटीचर और 27 हजार ग्राम पंचायत सहायकों के नियमितीकरण के संबंध में फिलहाल कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है।
उपनेता प्रतिपक्ष ने भी जताया था विरोध
शिक्षा मंत्री के इस बयान का उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने भी विरोध किया था। उन्होंने ट्वीट किया था कि शिक्षामंत्री ने पैराटीचर्स व ग्राम पंचायत सहायकों के सपनों को कुचलने का काम किया है। उन्होंने ट्विट किया था कि एक तरफ सरकार संविदाकर्मियों के लिए कमेटी का निर्माण करती है। मुख्यमंत्री बजट में संविदाकर्मियों के लिए सेवा नियम बनाने की घोषणा करते हैं और अब शिक्षा मंत्री का ऐसा बयान देना राज्य सरकार द्वारा उन्हें नियमितिकरण नहीं करने की मंशा को स्पष्ट रूप से प्रकट कर रहा है। विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने घोषणा पत्र में पैराटीचर्स के नियमितीकरण का वादा किया था लेकिन अब अपने वादे से मुकर रही है। चुनाव के पहले कर्मचारियों को भ्रमित कर सत्ता हासिल करने वाली कांग्रेस सरकार वादों से यूटर्न लेने में माहिर है।

यह है पंचायत सहायकों की स्थिति
लंबे समय से कर रहे हैं नियमितिकरण की मांग
मई 2017 से ग्राम पंचायतों में कर रहे 27 हजार पंचायत सहायक काम
अक्टूबर 2017 में शिक्षा विभाग के अधीन किए गए पंचायत सहायक
बीएलओ के साथ सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का काम संभाल रहे पंचायत सहायक
मात्र 6 हजार रुपए के मासिक मानदेय पर काम करने को मजबूर पंचायत सहायक
आज तक नहीं किया गया है स्थाई
आज तक नहीं हो पाए नियमित और ना ही हो पाई मानदेय में बढ़ोतरी
अब कर रहे हैं नियमितिकरण की मांग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned