ठगों के लपेटे में पुलिस भी, मदद के बहाने हैड कांस्टेबल सहित तीन से 3.41 लाख की ठगी

ठगों के लपेटे में पुलिस भी, मदद के बहाने हैड कांस्टेबल सहित तीन से 3.41 लाख की ठगी

neha soni | Publish: Feb, 04 2019 12:15:45 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

मदद के बहाने हैड कांस्टेबल सहित तीन से 3.41 लाख की ठगी

जयपुर. राजधानी के दो थाना क्षेत्रों में साइबर ठगी के तीन मामले सामने आए हैं। इनमें दो मामलों में बदमाशों ने मदद के बहाने कार्ड बदलकर एक हैडकांस्टेबल सहित दो लोगों से करीब 1.80 लाख की ठगी कर ली। वहीं, तीसरे मामले में लोन बंद कराने का झांसा देकर पीडि़त के खाते से 1.61 लाख रु. निकाल लिए। बाद में पीडि़त पक्षों ने मामला दर्ज कराया।
मुहाना पुलिस ने बताया कि आयकर नगर द्वितीय, मानसरोवर निवासी विक्रम सिंह राजस्थान पुलिस में हैड कांस्टेबल है। शुक्रवार दोपहर करीब दो बजे गिर्राज नगर स्थित एटीएम बूथ पर सिंह ने पास खड़े व्यक्ति से रुपए निकालने में मदद करने को कहा। इस दौरान उस व्यक्ति ने पीडि़त से एटीएम संबंधी जानकारी ले ली व पीडि़त के कार्ड से रकम निकालने के बाद कार्ड बदल दिया व खुद का खराब कार्ड थमा दिया। फिर आरोपी ने पीडि़त के खाते से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर करीब 1.20 लाख निकाल लिए।
सोडाला, खादी कॉलोनी निवासी राजेन्द्र गोस्वामी ने बताया कि 1 फरवरी को मशीन में कार्ड डालने के बाद रकम नहीं निकली। इस दौरान वहां खड़े लडक़े ने मदद के बहाने कार्ड ले लिया। थोड़ी बाद उसने कार्ड लौटा दिया। पीडि़त के घर पहुंचने के 15 मिनट बाद मोबाइल पर छह बार में दस-दस हजार रु. निकालने का मैसेज आया।

झांसा देकर ली एटीएम की जानकारी
पुलिस ने बताया कि सोडाला, वैद वाटिका निवासी चितरंजन सिंह ने 29 जनवरी को एक बैंक में व्यक्तिगत ऋण के लिए आवेदन किया था। दो लाख का ऋण स्वीकृत होने व अधिक ब्याज दर का पता चलने पर उसने कस्टमर केयर से संपर्क साधा। वहां से पीडि़त के मोबाइल पर लिंक आया। कुछ देर में उसके मोबाइल पर फोन आया व फोन करने वाले युवक ने खुद को कस्टमर केयर प्रतिनिधि बताया। फिर ऋण बंद कराने का झांसा देकर पीडि़त के एटीएम कार्ड की जानकारी जुटा ली। इसके बाद पीडि़त के मोबाइल पर बैंक खाते से 1,61,898 रुपए निकालने का मैसेज आया। बैंक से संपर्क साधने पर ऑनलाइन ठगी का पता चला।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned