Minister का PA बता सरकारी नौकरी लगाने के लिए 'रचा खेल', अलग-अलग राज्यों में की लाखों रुपए की ठगी, तीन गिरफ्तार

Minister का PA बता सरकारी नौकरी लगाने के लिए 'रचा खेल', अलग-अलग राज्यों में की लाखों रुपए की ठगी, तीन गिरफ्तार

rohit sharma | Publish: Jun, 10 2019 09:57:16 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए हड़पने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। खुद को कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ( Lal Chand Kataria ) का पीए बताकर बेरोजगार युवाओं को सरकारी नौकरी ( Government Job ) लगाने के नाम पर लाखों रुपए हड़पने वाले अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह के तीन बदमाशों को जवाहर नगर थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया है।

जयपुर।

सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए हड़पने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। खुद को कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ( lal chand kataria ) का पीए बताकर बेरोजगार युवाओं को सरकारी नौकरी ( government job ) लगाने के नाम पर लाखों रुपए हड़पने वाले अन्तर्राज्यीय ठग गिरोह के तीन बदमाशों को जवाहर नगर थाना पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपितों से पूछताछ करने में जुटी है।

 

 

डीसीपी (ईस्ट) डॉ. राहुल जैन ने बताया कि अंतर्राज्यीय ठग गिरोह के बदमाश सत्यवीर सिंह (25) निवासी कुम्हेर भरतपुर, जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू (27) निवासी कोतवाली झुंझुनूं और मनीष परमार (29) निवासी गिरसोमनाथ गुजरात को गिरफ्तार किया है। गिरोह पूर्व में भी दिल्ली, लखनऊ व अन्य शहरों में नौकरी लगाने के नाम पर रुपए ठगने की वारदात कर चुका है।

 

 

पुलिस पूछताछ में ठग गिरोह से अन्य कई वारदातों के खुलासे की संभावना जताई गई है। यह था मामला- तिजारा अलवर निवासी परमजीत यादव ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि नीमराणा अलवर में वह स्वयं का बिजनेस करता है। दिसम्बर 2018 में उसके मोबाइल पर सत्यवीर नाम के युवक का कॉल आया। जिसने खुद को कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया का पीए होना बताते हुए सरकारी विभाग में अच्छी पहुंच होना बताया।

 

 

बेरोजगार लड़कों को रेलवे ग्रुप-डी, आईटीबीपी ( ITBP ) व एफसीआई ( FCI ) सहित अन्य सरकारी विभाग में नौकरी लगा सकता हूं। बातचीत के दौरान फर्जी पीए ने अपने साथी जितेन्द्र उर्फ जीतू से भी मुलाकत करवाई। बातों में फांसकर आरोपितों ने उसकी और उसके आठ रिश्तेदारों को सरकारी नौकरी लगवाने की एवज में कुल 22 लाख रुपए अलग-अलग बैंक खातों में डलवा लिए। जिसके बाद नहीं नौकरी लगवाई और नहीं रुपए वापस लौटाए। इस मामले में मंत्री लालचंद कटारिया से सम्पर्क किया गया, लेकिन उनका मोबाइल बंद आ रहा था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned