शेखावाटी में खून से लाल हुआ रेलवे ट्रैक, दो अलग-अलग हादसों में पांच की मौत

राजस्थान का सीकर रविवार को रेलवे ट्रैक पर हुए दर्दनाक हादसों से दहल उठा। दो अलग-अलग हादसों में रेलवे ट्रैक पर कटकर पांच लोगों की मौत हो गर्इ।

राजस्थान का सीकर रविवार को रेलवे ट्रैक पर हुए दर्दनाक हादसों से दहल उठा।  दो अलग-अलग हादसों में रेलवे ट्रैक पर कटकर पांच लोगों की मौत हो गर्इ। इनमें से एक हादसा फतेहपुर के हरसावा रेलवे स्टेशन के नजदीक हुआ तो दूसरा मावंडा रेलवे स्टेशन के निकट।




फतेहपुर के हरसावा रेलवे स्टेशन के पास रविवार सुबह दर्दनाक हादसा हुआ। सुबह करीब 5 बजे चार मजदूर ट्रेन की पटरियों पर सो रहे थे। इसी दौरान अचानक आए ट्रेन इंजन से कटकर तीन लोगों की लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और एक गंभीर रूप से घायल हो गया। 



जानकारी के अनुसार मजदूर यहीं पर रेलवे अंडरपास का काम करते थे। ट्रेक बंद होने के कारण पटरियों पर सो रहे थे पटरियों पर अचानक ट्रायल के लिए इंजन आ जाने से चारों मजदूर इंजन की चपेट में आ गए। 



पुलिस के मुताबिक मृतकों की पहचान कोटपूतली के दिनेश बलाई व मनीष बलाई और बानसूर के इंद्राज के रूप में की गर्इ है। तीनों की इंजन से कटने से मौके पर ही मौत हो गई।




ट्रेन से कट कर 2 की आैर मौत

वहीं दूसरा हादसा सीकर के मावंडा रेल्वे स्टेशन के समीप हुआ। यहां रात को दो लोगों की ट्रेन से कट कर मौत हो गई। मौके पर बिखरे दस्तावेजों के आधार पर दोनों ही मुंबई से दिल्ली तक नई बिछ रही रेलवे पटरी पर कार्य करते थे तथा दोनों ही बाहरी राज्यों के रहने वाले हैं। घटना की सूचना पाकर नीमकाथाना जीआरपी थाना पुलिस व नीमकाथाना सदर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस और मौजूद ग्रामीणों ने शवों को नीम की टहनियों से ढका। पुलिस ने घटना स्थल पर जांच प्रक्रिया शुरू कर लिए शव कब्जे में लिए हैं। अभी तक पता नही चल पाया है कि कौनसी ट्रेन से ये हादसा हुआ है।

Abhishek Pareek
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned