script35 percntage senior citizens in India suffer abuse by sons | अधिक से अधिक उम्र तक काम करना चाहते हैं बुजुर्ग | Patrika News

अधिक से अधिक उम्र तक काम करना चाहते हैं बुजुर्ग

उम्र का दर्द : वृद्धों के साथ 'अपने' ही करते हैं दुर्व्यवहार

आर्थिक रूप से असुरक्षित...
30% पेंशन और नकद हस्तांतरण पर निर्भर
47% बुजुर्ग आय के स्रोत के लिए परिवार पर निर्भर
40% स्वयं को आर्थिक रूप से सुरक्षित महसूस नहीं करते
45% वृद्धों का मानना कि उनकी पेंशन पर्याप्त नहीं

जयपुर

Published: June 16, 2022 02:44:15 am

नई दिल्ली. भारत में बुजुर्गों की कुल आबादी 13.8 करोड़ है। यह देश की कुल आबादी का 10 फीसदी है। कोरोना के बाद वृद्धों की आय, स्वास्थ्य, सुरक्षा और जीवनशैली में आए व्यापक अंतर को समझने के लिए हेल्पएज इंडिया की ओर से एक सर्वे किया गया। पाया गया कि देश में 71 फीसदी बुजुर्ग किसी तरह का काम नहीं कर रहे, जबकि 36 फीसदी काम करने को तैयार हैं और उनमें से 40 फीसदी ऐसे हैं, जो ज्यादा से ज्यादा उम्र तक काम करना चाहते हैं। वहीं 61 फीसदी बुजुर्ग मानते हैं कि देश में उनके लिए पर्याप्त और सुलभ रोजगार के अवसर नहीं हैं।
अधिक से अधिक उम्र तक काम करना चाहते हैं बुजुर्ग
अधिक से अधिक उम्र तक काम करना चाहते हैं बुजुर्ग
वर्क फ्रॉम होम के लिए तैयार
राष्ट्रीय रिपोर्ट 'ब्रिज द गैप: अंडरस्टैंडिंग एल्डर नीड्स' कई तथ्यों को उजागर करती है, जैसे देश में बुजुर्ग वर्तमान में काम करना चाहते हैं। जब सवाल किया गया कि वरिष्ठों की स्थिति को सुधारने के क्या विकल्प हो सकते हैं तो 45 फीसदी ने वर्क फ्रॉम होम और 29 फीसदी ने सेवानिवृत्ति की आयु में वृद्धि का सुझाव दिया।
अपनों की आंखों में ही लगे चुभने
मौखिक दुर्व्यवहार, उपेक्षा और आर्थिक शोषण बुजुर्गों के साथ होने वाले दुर्व्यवहार के प्रमुख रूप हैं। 59 फीसदी बुजुर्गों को लगता है कि समाज में वृद्धों के साथ बुरा व्यवहार होता है। केवल 10 फीसदी बुजुर्गों ने दुर्व्यवहार का शिकार होने की बात स्वीकार की है। बुजुर्गों को प्रताड़ित करने वाले तीन प्रमुख लोग हैं- रिश्तेदार (36 फीसदी), बेटे (35 फीसदी) और बहू (21 फीसदी)। रिपोर्ट का यह आंकड़ा चौंकाता है कि 13 फीसदी वृद्धों ने पिटाई और थप्पड़ के रूप में शारीरिक शोषण का सामना किया।
दुनिया में कई प्रोग्राम

  • जापान में लोग 60 वर्ष में रिटायरमेंट होने के बाद 'कंटिन्यूअस एम्प्लॉयमेंट' के रूप में दोबारा कम वेतन पर जॉइन कर सकते हैं।
  • जर्मनी में भी बुजुर्गों को काम पर रखने के लिए प्रयास हो रहे हैं, जैसे वर्ष 2012 में यहां पर रिटायरमेंट की उम्र 65 वर्ष थी, जो वर्ष 2029 में 67 वर्ष कर दी जाएगी।
  • जर्मनी में 'इनिशिएटिव 50 प्लस' कार्यक्रम चलाया जाता है। यह वृद्धों को प्रशिक्षण और आजीवन सीखने की सुविधा प्रदान करता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र का सियासी संकट जल्द खत्म होने के आसार कम! सदस्यता को लेकर बागी विधायक कर सकते है कोर्ट का रुखMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने बागी विधायकों पर फिर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बड़ी बातMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीBy-Elections 2022: तीन लोकसभा और सात विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे आजमेरे पास ममता बनर्जी को मनाने की ताकत नहीं: अमित शाहMumbai News Live Updates: बागी विधायकों पर संजय राउत ने साधा निशाना, बोले-बालासाहेब के नाम का इस्तेमाल न करेंपंजाब: भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार IAS के बेटे ने खुद को गोली मारी, अधिकारी की पत्नी ने विजिलेंस टीम पर लगाया हत्या का आरोपMann Ki Baat : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.