5 जी सेवा को लेकर क्यों मचा रखी है दुनिया में खलबली

5 जी सेवा को लेकर क्यों मचा रखी है दुनिया में खलबली
5 जी सेवा को लेकर क्यों मचा रखी है दुनिया में खलबली

Khusendra Tiwari | Updated: 06 Sep 2019, 08:07:44 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

- अमरीकी सरकार और सेल्यूलर कंपनीज क्यों हुई आमने सामने

जयपुर. टेक्नोलॉजी वैसे तो डवलपमेंट की संकेत देती है, लेकिन उसके आने से पहले ऐसे कई सवाल खड़े हो जाते हैं, जो मन में कई शंकाओं को लाती है। ऐसा ही कुछ इन दिनों दुनिया में ५ वीं आने की चर्चा को लेकर दिखाई दे रहा है। एक ओर जहां 5 जी को लेकर वैश्विक विकास की कल्पनाओं को पंख दिए जाने की कोशिश हो रही है। वहीं दूसरी ओर भारत, अमरीका और रूस और चीन जैसे देशों में इसे लेकर खलबली मच गई है। अमरीका में इसे लेकर सबसे ज्यादा चिंता जताई जा रही है। सेक्यूलर कंपनीज और अमरीका के बीच इसे लेकर लगातार बहस का माहौल बना हुआ है। क्या है 5 जी को लेकर वबाल आईए जानते हैं।

दरअसल 5 जी को लेकर दुनियाभर में कई सवाल है, जो वहां की सरकारों को चिंतित कर रही है। हालांकि इसे लेकर 28 अक्टूबर को मिस्र में होने वाली वल्र्ड कम्युनिकेशन कॉन्फ्रेंस भी होने जा रही है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या ५ जी सेवा देशों की आंतरिक सुरक्षा को बनाए रखेगी, या इसके जरिए सूचनाओं में सेंध लगाना आसान होगा। दरअसल ऐसे ही कई सवाल इसलिए भी उठाए जा रहे हैं, क्योंकि 5जी की तेज स्पीड और वायरलेस कनेक्टिविटी जैसी खासियतों की वजह से आने वाले समय में यूजर्स का नियंत्रण सिर्फ कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों तक ही सीमित नहीं होगा। कार, फैक्ट्रियां और शहर भी इस तकनीक के जरिए डिजिटाइजेशन की तरफ बढ़ जाएंगे। एक्सपट्र्स की मानें, तो जो भी देश इसके प्रयोग में आगे रहेंगे, उन्हें इस सदी में बाकी देशों के मुकाबले प्रतिस्पर्धा में बढ़त मिल जाएगी। वहीं रूस से मिली एक रिपोर्ट का कहना है कि5 जी सेवा मानवता के लिए खतरा साबित हो सकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned