राजस्थान में कोरोना का सबसे दुर्लभ केस : पांच महीने में 31 बार जांच, लगातार कोरोना पाॅजिटिव

प्रदेश में सामने आया कोरोना का सबसे दुर्लभ केस, भरतपुर की अपना घर संस्था की एक महिला की पीड़ा, कोई लक्षण नहीं होने के बावजूद पांच महीने से आइसोलेट रहने की मजबूरी, वजन 30 किलो से बढ़कर हुआ 38 किलो

By: pushpendra shekhawat

Published: 23 Jan 2021, 09:40 PM IST

भरतपुर. जयपुर. कोरोना भले ही खात्मे की ओर है, लेकिन कुछ मामले अभी भी चिकित्साकर्मियों को उलझा रहे हैं। ऐसा ही एक केस भरतपुर की अपना घर आश्रम की आवासिन शारदा का है। शारदा की तमाम उपचार के बाद भी अभी तक कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आ सकी है। उनकी 28 अगस्त से अब तक 31 बार कोरोना जांच हो चुकी है, जो सभी पॉजिटिव हैं। खास बात यह है कि शारदा का एलोपैथी, होम्योपैथी और आयुर्वेदिक तरीके से उपचार हो रहा है, लेकिन कोरोना जाने का नाम नहीं ले रहा।

शारदा खुद को पूरी तरह से स्वस्थ बता रही है और उसे किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं हो रही है। कोरोना के दौरान उनका वजन भी ३० से बढ़कर 38 किलो तक पहुंच गया है। चिकित्सकों के अनुसार शारदा में अब कोरोना वायरस सक्रिय नहीं है यानि मृत वायरस है। लेकिन उन्हें आइसोलेशन में रखना जरूरी है। इसलिए उसे 5 माह से दो कमरों के आइसोलेशन कक्ष में रखा गया है।

नहीं मिली हरी झंडी, सो चल रहा उपचार

शारदा की रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आने पर अपना घर प्रबंधन ने इन्हें जयपुर भेजने का निर्णय लिया है। इसके लिए जिला कलक्टर एवं सीएमएचओ को पत्र भी लिखा गया है, लेकिन स्थानीय प्रशासन की ओर से इस संबंध में कोई गाइड लाइन नहीं मिली है। ऐसे में शारदा का उपचार अपना घर में ही चल रहा है। एसएमएस जयपुर के माइक्रोबायोलॉजी के प्रोफेसर कुछ दिन पहले यहां आए थे। उन्होंने महिला को देखा था। अपना घर प्रबंधन समय.समय पर उनसे सलाह भी ले रहा है।

नहीं फैला सकती संक्रमण

अपना घर के संस्थापक डॉ.बी.एम. भारद्वाज ने बताया कि शारदा का हाल ही में ७ जनवरी को सेम्पल लिया गया था, जो पॉजिटिव आया है। उसे बेहद कमजोर अवस्था में अपना घर लाया गया था। वह आश्रम की पहली कोरोना पॉजिटिव थीं। शारदा का पहला टेस्ट 28 अगस्त 2020 को हुआ।

भरतपुर के अपना घर की इस महिला का मामला अत्यंत दुर्लभ और मेडिकल जर्नल में रिपोर्ट करने लायक है। अमूमन दो महीने तक वायरस रह सकता है, लेकिन पांच महीने का मामला कम ही सामने आता है।
डाॅ.रमन शर्मा, सीनियर प्रोपफेसर, एसएमएस मेडिकल काॅलेज

Corona virus
pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned