8 राज्यों में चुनाव, कांग्रेस के 55 फीसदी उम्मीदवारों की जमानत जब्त

कांग्रेस की 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी की स्थिति बद से बदतर हो रही है। यही वजह है कि लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक 8 राज्यों में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं, अधिकांश में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

By: kamlesh

Published: 20 Nov 2020, 02:19 PM IST

शादाब अहमद

कांग्रेस की 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद पार्टी की स्थिति बद से बदतर हो रही है। यही वजह है कि लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक 8 राज्यों में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं, अधिकांश में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

लोकसभा चुनाव के बाद भी कांग्रेस के स्थिति में सुधार नहीं दिख रहा है। कई राज्यों में जिला व ब्लॉक स्तर का संगठन समाप्त हो चुका है। इसके चलते कांग्रेस के प्रदर्शन में सुधार नहीं हो रहा है। पार्टी कई राज्यों में सिर्फ अपनी उपस्थिति दिखाने के लिए चुनाव लडऩे का मोह पाले हुए हैं, जिसकी वजह से करारी हार हो रही है। हालात यह है कि लोकसभा चुनाव 2019 से लेकर अब तक 8 राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के आधे से ज्यादा अपनी जमानत गंवा चुके हैं। जबकि जीत सिर्फ 16 फीसदी उम्मीदवारों को ही मिल सकी है। कांग्रेस ने 8 राज्यों में 762 सीट पर चुनाव लड़ा, जिनमें से 123 पर जीत हासिल की। जबकि करीब 410 सीट पर जमानत गंवा दी।

पार्टी का अस्तित्व ही नहीं
आंध्र-प्रदेश, दिल्ली, बिहार के चुनाव परिणामों ने साफ कर दिया है कि यहां कांग्रेस का अस्तित्व ही नहीं है। इन राज्यों में कांग्रेस को 10 फीसदी वोट भी नहीं मिले हैं। आंध्र प्रदेश में लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव हुए थे। कांग्रेस ने सभी 175 सीट पर चुनाव लड़ा। बिना संगठन और तैयारी की वजह से 174 सीट पर कांग्रेस की जमानत जब्त हो गई। इसी तरह दिल्ली में 70 में से 66 सीट पर चुनाव लडक़र 63 पर जमानत गंवा दी।

अन्य राज्यों में जनता का अलर्ट
महाराष्ट्र में पिछले साल हुए चुनाव में कांग्रेस ने एनसीपी के साथ गठबंधन कर 147 सीट पर चुनाव लड़ा। 44 सीट पर जीत मिली, लेकिन 25 सीट पर जमानत चली गई। इसके अलावा कांग्रेस का वोट शेयर 2014 के मुकाबले 2.17 फीसदी कम हो गया। शिवसेना का भाजपा से नाता टूटने के चलते कांग्रेस ने यहां सरकार जरूर बना ली। वहीं ओडि़शा में कभी मुकाबले में रहने वाली कांग्रेस अब हाशिये पर दिख रही है। पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 7 सीट का नुकसान तो हुआ ही, साथ में वोट करीब दस फीसदी कम हो गया।

-झारखंड-हरियाणा में कांग्रेस का सुधार
पिछले डेढ़ साल के दौरान सिर्फ झारखंड और हरियाणा के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सुधार देखने को मिला है। झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा के साथ कांग्रेस सरकार बनाने में सफल रही है।

-भाजपा लगातार बढ़ रही
ओडि़शा, आंध्रप्रदेश, तेलांगना, दिल्ली जैसे राज्यों में भाजपा मुख्य विपक्षी दल की भूमिका आती दिख रही है। हालांकि आंध्रप्रदेश में भाजपा के 173 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई थी, लेकिन उसके वोट शेयर में मामूली बढ़त हुई थी। जबकि ओडि़शा में 14.5 फीसदी वोट और 13 सीटों का फायदा मिला।

-भाजपा की बढ़ रही जीत की दर
बिहार चुनाव से पहले भाजपा की जीत की दर 31 फीसदी थी, जो अब 35 फीसदी पर आ गई है। भाजपा ने 8 राज्यों की 894 सीट पर चुनाव लड़ा है, जिनमें उसे 316 सीट पर जीत हासिल हुई है।

-लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक इन राज्यों में हुए चुनाव
आंध्र-प्रदेश, अरूणाचल प्रदेश, दिल्ली, ओडि़शा, महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड व बिहार

Congress

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned