कोरोना से एक दिन में सर्वाधिक 7 मौतें

देश में 20 मौतें, 715 लोग संक्रमित

नई दिल्ली. देश में कोरोना के कारण मौत का आंकड़ा गुरुवार को बढकऱ 20 हो गया। इस बीमारी के कारण देश में एक ही दिन में सर्वाधिक सात मौतें हुईं। जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्यप्रदेश और कर्नाटक में गुरुवार को एक-एक मौत हुई। वहीं, राजस्थान के भीलवाड़ा में दो मौतें हुईं। इस बीच संक्रमितों का आंकड़ा 715 हो गया, हालांकि सरकार ने 694 मामलों की ही पुष्टि की है।
गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में 65 वर्षीय पुरुष और महाराष्ट्र के मुंबई में 65 साल की महिला की मौत हुई है। गुजरात के भावनगर में 70 वर्षीय बुजुर्ग और कर्नाटक में 75 वर्षीय महिला और मध्यप्रदेश में इंदौर में 35 वर्षीय युवक की मौत हो गई।
रक्षामंत्री ने तैयारियों की समीक्षा की : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को कोरोना संकट से निपटने के लिए सुरक्षा बलों की तैयारियों की समीक्षा की। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में और क्या किया जा सकता है, इस पर चर्चा करने के लिए रक्षामंत्री ने सीडीएस जनरल बिपिन रावत, रक्षा सचिव अजय कुमार और सशस्त्र बलों के प्रमुखों के साथ समीक्षा बैठक की।
कोरोना से जंग में सेना के तीन कदम : भारतीय सेना ने कोरोना से निपटने के लिए सैनिकों के लिए हर स्टेशन पर आइसोलेशन सेंटर बनाने के वास्ते अतिरिक्त बुनियादी ढांचे की पहचान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।
वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि सेना अपने चिकित्सा कर्मियों को उन इलाकों में तैनात करने की योजना बना रही है जो संक्रमण से अधिक प्रभावित हैं। उन्होंने बताया कि सेना विभिन्न अस्पतालों में अपने चिकित्सा कर्मियों को अतिरिक्त प्रशिक्षण दे रही है।
अमिताभ के दावे को स्वास्थ्य मंत्रालय ने नकारा : स्वास्थ्य मंत्रालय ने अमिताभ बच्चन के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसमें बच्चन ने कहा था कि मक्खी भी कोरोना फैला सकती है। बॉलीवुड के महानायक ने ट्विटर पर पोस्ट एक वीडियो में एक रिसर्च का हवाला देते हुए बताया, देश कोरोना से जूझ रहा है। सभी को इस लड़ाई में बहुत ही महत्त्वपूर्ण भूमिका निभानी है। हाल ही में चीन के विशेषज्ञों ने पाया कि कोरोना वायरस मानव मल में कई हफ्तों तक जिंदा रह सकता है। उन्होंने आगे कहा, संक्रमित व्यक्ति के स्वस्थ हो जाने की स्थिति में भी कुछ हफ्तों तक उसके मल में वायरस जिंदा रह सकता है। ऐसे में मक्खी उस मल में बैठने के बाद फल-सब्जी पर बैठ जाए तो संक्रमण का खतरा और अधिक बढ़ जाता है।

Vijayendra Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned