राजस्थान में मासूम से हैवानियत, बंधक बनाया, दांतों से काटा, अंगारों से दागा और ...

राजसमंद में सात वर्षीय मासूम बालिका से बर्बरता। जिनके भरोसे छोड़ा, उन्होंने ही की बालिका से बर्बरता, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने बची बालिका की जान, पुलिस ने की मामला दर्ज, आरोपी दंपती गिरफ्तार, जांच शुरू

By: pushpendra shekhawat

Published: 30 Jan 2021, 08:20 PM IST

राजसमंद/ जयपुर। घर का ऐसा कोई काम नहीं जो वह नहीं करती, झाडू, बर्तन, पौंछा, बकरी व भैंस चराना हो या गोबर उठाना। बावजूद इसके जरा सी देर उसके शरीर पर नया जख्म दे जाती है। उसके हाथ, सिर, कमर और शरीर के तकरीबन हर हिस्से पर चोट के निशान उसकी दर्द भरी कहानी बया कर रहे है। उससे मारपीट व उत्पीडऩ का यह सिलसिला पिछले करीब तीन माह से चल रहा था।

बालिका की रिश्तेदार रेखा व उसके पति को जब ज्यादा गुस्सा आ जाता, तो उसके पांव को तार से बांध उल्टा लटकाने व गर्म अंगारों से जलाने से भी बाज नहीं आते। यह कहानी है राजसमंद जिले के भीम ब्लॉक के एक गांव की सात वर्षीय बालिका अनु (बदला हुआ नाम) की।

माता पिता का यहां पर गुजर बसर करना मुश्किल हो रहा था। तो उन्होंने सात वर्षीय बेटी अनु को दूर के रिश्तेदार पेलाडोल ग्राम में किशन सिंह रावत व रेखा देवी के यहां छोड़ दिया तथा दोनों गुजरात कमाई के लिए रवाना हो गए और यहीं से शुरू हुई अनु की दु:ख भरी दास्तान...

आरोपी किशन सिंह व रेखा को तो बिन पैसे का मजदूर मिल गया। सूरज निकलने से पहले शुरू होने वाले कामों का सिलसिला देर रात तक नहीं थमता। बालिका ने बताया कि रेखा देवी व किशन सिंह उसे हर रोज रस्सी से बांध कर पीटते कई बार तो उसे उल्टा लटका कर पीटते। दोनों उसे रोटी भी नहीं देते। रेखी देवी ने उसे पीटते हुए जगह जगह पम्प से मारा व हाथ तोड़ दिया पैरों व हाथों की अंगुलियों के नाखून उखाड़ दिए। गुप्तांगो पर भी लकड़ी व लोहे की रॉड से कू्ररता की। रेखा देवी दांतों से गाल काट दिए। मासूम भाग न जाए। इसके लिए वे घर का दरवाजा हमेशा बंद ही रखते।


वीडियो वायरल हुआ तो मासूम को बहन के घर छिपाया
एक दिन मौका पाकर अनु आरोपी के घर से नंगे पांव ही भाग निकली। रास्ते में अनु को इस हालत में देखकर एक अनजान महिला इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। लेकिन रेखाव उसके पति ने उसे फिर पकड़ लिया गया। वीडियो वायरल होने के दोनों आरेापी काफी डर गए और बच्ची को रात को ही उनकी बहन के यहां भीलखेडा में छिपा दिया।

सरपंच की जागरूकता से बची मासूम
जानकारी लगने पर सरपंच दीक्षा चौहान, ग्राम विकास अधिकारी संतोष सिंह व सरदार सिंह व ग्रामीण किशन सिंह के घर पहुंचे, तो पता चला कि उसके माता-पिता मासूम को यहां छोड़ गए। इस मामले में सरपंच व ग्रामीणों ने थाने में मामले की शिकायत की। सूचना पर चाइल्ड लाइन 1098 टीम सदस्य अनीता व रेशमा द्वारा बाल अधिकारिता विभाग, बाल कल्याण समिति व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से सहायता के बाद पुलिस ने देर रात मामला दर्ज किया।

आरोपी दम्पती गिरफ्तार, 14 दिन तक जेल भेजा
सात वर्षीय बालिका के साथ अत्याचार करने के मामले में पुलिस ने आरोपी दम्पती को शनिवार को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से न्यायालय ने दोनेां को जेल भेज दिया। पुलिस वृत निरीक्षक गजेन्द्र सिंह ने बताया कि आरोपी पेलाडोल निवासी किशन सिंह व उसकी पत्नी रेखा देवी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए है।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned