74 प्रतिशत विद्यार्थियों ने माना, ऑनलाइन कक्षाओं से हुई बेहतर पढ़ाई

- 42 फीसदी ने कहा लॉकडाउन के बाद ली जाएं परीक्षाएं

 

By: Ankit

Published: 24 May 2020, 06:12 PM IST


जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय के 74 फीसदी विद्यार्थियों का कहना है कि ऑनलाइन कक्षाओं से उनकी पढ़ाई बेहतर हुई है। इतना ही नहीं, 78 फीसदी विद्यार्थी ऑनलाइन कक्षा लेने में रूचि रख रहे हैं। वहीं, ग्रीष्मावकाश के बावजूद विवि के 49 प्रतिशत शिक्षक अपने स्तर पर ऑनलाइन कक्षाएं लेकर कोर्स पूरा करवा रहे हैं, विद्यार्थी की समस्याओं का निराकरण कर रहे हैं। यह बात सामने आई है विवि के गृह विज्ञान विभाग के छात्राओं की ओर से विवि के विद्यार्थियों पर किए गए एक सर्वे में। दरअसल, इसमें विवि के 150 विद्यार्थियों पर ऑनलाइन सर्वे किया गया। इसमें यूजी, पीजी से लेकर पीएचडी तक के शोधार्थियों को शामिल किया गया। सर्वे के परिणाम सुखद व कुछ हद तक चौकाने वाले भी सामने आए हैं।

42 प्रतिशत ने कहा, लॉकडाउन के बाद ली जाएं परीक्षा
सर्वे में 42 फीसदी विद्यार्थी ने इस बात से सहमति जताई है कि लॉकडाउन खुलने के तुरंत बाद परीक्षा ली जानी चाहिए। वहीं, 47 फीसदी विद्यार्थियों ने इससे असहमति जताई है। विद्यार्थियों का मानना है कि लॉकडाउन के तुरंत बाद अगर परीक्षा ली जाती है तो इससे संक्रमण और बढऩे की आशंका रहेगी।
विद्यार्थियों ने ऑनलाइन सर्वे के दौरान कहा कि अगर इसी प्रकार की परिस्थितियां रहती हैं तो नियमित कक्षाओं के दौरान विशेष सावधानी रखनी होगी।

यूं दिए जवाब
- कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग रखनी जरुरी - 73.3 फीसदी
- कक्षा व विवि में मास्क पहनना जरुरी - 69.3 फीसदी
- हर विद्यार्थी की थर्मल स्क्रीनिंग जरुरी - 58.7 प्रतिशत
- विवि में किसी प्रकार के आयोजन न हो - 58 प्रतिशत
- ब्लैक बोर्ड का प्रयोग मना हो - 33.3 प्रतिशत
- हर क्लास में सेनेटाइजर हो - 64 प्रतिशत
- हॉस्टल में मैस बैच वार चले - 52.7 फीसदी
- हॉस्टल में हर दिन सेनेटाइजेशन व हाइजीन का विशेष ध्यान रखा जाए - 55.3 प्रतिशत

Ankit Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned