9 फूड सेफ्टी आॅफिसर एपीओ

9 फूड सेफ्टी आॅफिसर एपीओ

PUNEET SHARMA | Publish: Apr, 17 2018 11:03:56 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

9 फूड सेफ्टी आॅफिसर एपीओ

9 फूड सेफ्टी आॅफिसर एपीओ
स्वास्थ्य विभाग का तर्क—जोन में काम ही नहीं
निदेशालय में सेंट्रल टीम के नाम पर 5 फूड सेफ्टी आफिसर बिना काम तैनात
सिर्फ होली और दिपावली पर काम करती है सेंट्रल टीम
जयपुर।
खादय सुरक्षा आयुक्त के अधीन 9 फूड सेफ्टी आॅफिसरों को सोमवार को एपीओ कर तत्काल स्वास्थ्य निदेशालय में उपस्थिति देने के लिए कहा गया है। लेकिन खादय सुरक्षा आयुक्त के इस आदेश को लेकर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। अधिकारियों का कहना है कि स्वास्थ्य भवन में सेंट्रल टीम के नाम पर 5 फूड सेफ्टी आॅफिसर कई सालों से तैनात हैं और ये साल में एक दो दिन ही कोई कार्यवाही करते है। जबकि जिलों एक दर्जन से ज्यादा जिलों में फूड सेफ्टी आॅफिसर नहीं है।
स्वास्थय विभाग के अफसरों के की माने तो स्वास्थ्य निदेशालय में फूड सेफ्टी आॅफिसरों की एक सेंट्रल टीम बनी हुई है। इस टीम में पांच फूड सेफ्टी आॅफिसरों की तैनाती की गई है। यह सेंट्रल टीम होली और दीपावली से पहले मिलावटी खादय वस्तुओं के खिलाफ सात दिन के लिए एक अभियान चलाती है। इसके बाद इस टीम का कोई काम नहीं होता है और पूरे साल यह टीम स्वासथ्य निदेशायल में हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है।
वहीं खादय सुरक्षा आयुक्त ने सोमवार को आदेश जारी कर जयपुर ,भरतपुर, कोटा , उदयपुर और बीकानेर जोन में तैनात 9 फूड सेफ्टी आॅफिसरों को एपीओ कर मुख्यालय में डयूटी देने के लिए कहा है। फूड सेफ्टी आयुक्त डॉ वीके माथुर का तर्क है कि जोन में तैनात फूड सेफ्टी आॅफिसरों के पास ज्यादा काम नहीं है। ऐसे में इन्हें दूसरे जिलों में भेजा जाएगा जहां फूड सेफ्टी आॅफिसरों के पद रिक्त है।
वहीं अधिकारियों का कहना है कि मुख्यमंत्री अब जिलों के दौरे पर हैं। ऐस में मुख्यमंत्री के दौरे के समय केाई नया बखेडा नहीं हो जाए इसलिए फूड सेफ्टी आॅफिसरो को एपीओ किया गया है। इन अफसरों केा जल्द ही अन्य जिलों में भेजने की कवायद की जा रही है।
वहीं खादय सुरक्षा आयुक्त डॉ वीके माथुर ने जयपुर भरतपुर कोटा उदयपुर, जोधपुर और बीकानेर के संयुक्त निदेशक जोन से 9 फूड सेफ्टी आॅफिसरों को एपीओ कर निदेशालय बुला लिया है। इन फूड सेफ्टी आॅफिसरों को डूंगरपुर, करौली, धौलपुर,बांसवाडा गंगानगर आदि जिलों में भेजने की तैयारी की जा रही है। खादय सुरक्षा के तहत अभी प्रदेश में 83 फूड सेफ्टी आॅफिसरों की जरूरत है लेकिन अभी 64 ही फूड सेफ्टी आॅफिसर तैनात है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned