लॉकडाउन के बाद प्रदेश में 94 फीसदी खनन गतिविधियां पुन शुरू

लॉकडाउन ( lockdown ) के बाद प्रदेश में करीब 94 फीसदी खनन गतिविधियां ( mining activities ) पुन: आरंभ हो गई है। कोरोना महामारी ( corona epidemic ) के कारण लॉकडाउन जैसी प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद जून माह में खनिज क्षेत्र ( mineral sector ) में गत साल की इसी अवधि की तुलना में अधिक राजस्व अर्जित किया है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 31 Jul 2020, 07:13 PM IST

जयपुर। लॉकडाउन के बाद प्रदेश में करीब 94 फीसदी खनन गतिविधियां पुन: आरंभ हो गई है। कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन जैसी प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद जून माह में खनिज क्षेत्र में गत साल की इसी अवधि की तुलना में अधिक राजस्व अर्जित किया है।
सचिवालय में आयोजित राज्य स्तरीय विकास एवं समन्वय समिति की बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव खान एवं पेट्रोलियम डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में 94 फीसदी खनन गतिविधियां आरंभ होने पर संतोष व्यक्त करते हुए खनन गतिविधियों को शत-प्रतिशत स्तर पर लाने के निर्देश दिए। राज्य में लॉकडाउन के कारण एक अप्रेल को खनन गतिविधियां लगभग बंद हो गई थी व ई-रवन्ना की संख्या 130 के स्तर पर आ गई थी, जो आज औसतन लगभग 26 हजार 500 प्रतिदिन आ गई है। राजस्थान देश का प्रमुख खनिज बहुल प्रदेश है और राज्य में लेड जिंक, रॉक फास्फेट, आयरन ओर, कॉपर, सिल्वर, लाइम स्टोन आदि के साथ ही सेंड स्टोन, मार्बल, ग्रेनाइट, मैसेनरी स्टोन, सोप स्टोन, फेल्सपार आदि की खनन गतिविधियां संचालित हो रही है।
राज्य में करीब 15 हजार खनन लीज जारी है। कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के बावजूद खनन गतिविधियों को पटरी पर लाने के समन्वित व सकारात्मक प्रयासों का ही परिणाम है कि प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर कार्य आरंभ होने से 94 फीसदी खनन गतिविधियां पुन: आरंभ हो गई है, इस क्षेत्र से जुड़े श्रमिकों को रोजगार मिलना आरंभ हो गया है और राज्य सरकार को राजस्व प्राप्ति में भी सकारात्मक परिणाम प्राप्त होने लगे हैं। कोविड-19 को देखते हुए खनन गतिविधियों में भी केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा जारी हेल्थ प्रोटोकाल व एडवाइजरी की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। खनन पट्टों के आवंटन में रिजर्व प्राइस और आवंटन व्यवस्था को पारदर्शी व युक्ति संगत बनाया जा रहा है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned