कार्यकारी अध्यक्षों की नए सिरे से कवायद, कांग्रेस ने बदली रणनीति

कार्यकारी अध्यक्षों की नए सिरे से कवायद, कांग्रेस ने बदली रणनीति

Kamlesh Agarwal | Publish: Jun, 19 2018 02:44:44 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

कार्यकारी अध्यक्षों की नए सिरे से कवायद, कांग्रेस ने बदली रणनीति

 

जयपुर


राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पूरी योजना और रणनीति से काम कर रही है चुनावों में जातिगत समीकरण साधने के लिए चुनावी रणनीति में खासा बदलाव किया है। इसी के तहत कांग्रेस जल्द ही चार नए कार्यकारी अध्यक्ष बनाने जा रही है जो कि अलग अलग जातियों से होगें और चुनाव में जातिगत समीकरणों को बैठाने का काम करेगें। पार्टी के जानकार सूत्रों की माने तो दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में पिछले कई दिनों से इन चार वर्गों के नेताओं के नामों पर मंथन चल रहा है। बताया जा रहा है कि नामों को फाइनल करने के बाद शीघ्र ही चार कार्यकारी अध्यक्षों की घोषणा कर दी जाएगी।

पीसीसी से मांगे थे नाम
पार्टी के जानकार सूत्रों की माने को बदली हुई रणनीति और सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले के तहत कार्यकारी अध्यक्षों के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश प्रभारी और प्रदेश नेतृत्व से एससी-एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यक वर्ग के नेताओं के नाम मांगे थे, जिस पर दोनों नेताओं ने चर्चा के बाद चार वर्ग के नेताओं के नाम एआईसीसी को भेज दिए हैं, पीसीसी की ओर से भेजे गए नामों पर ही अब पिछले दो दिन से मंथन चल रहा है।

इसलिए बदली रणनीति

कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति में रणनीति बदलने की वजह परंपरागत वोट बैंक को माना जा रहा है। दरअसल एसटी-एससी और माइनोरिटी पार्टी के परंपरागत वोटबैंक माने जाते हैं, अपने परंपरागत वोट बैंक के साथ ही पार्टी ओबीसी जातियों को भी अपने पाले में लाना चाहती है, ऐसे में विधानसभा चुनाव में पार्टी अपने परंपरागत वोट बैंक को नाराज नहीं करना चाहती, साथ ही इन वर्गों को कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति में तवज्जो देकर उन्हें अपने पाले में ही रखना चाहती है।

टिकट में जातिगत दावेदारी
टिकट की दावेदारी और टिकट वितरण के दौरान जातिगत दावेदारी में कार्यकारी अध्यक्ष की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। इसी के साथ टिकट नहीं मिलने पर विवाद हो सकता है और जातिगत नाराजगी दूर करने में कार्यकारी अध्यक्ष को समझाइस का जिम्मा सौंपा जा सकता है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned