Aadhaar Failures: आधार को लेकर यहां ये क्या हो रहा है?

Sangeeta Chaturvedi

Updated: 16 Aug 2019, 11:34:40 AM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Aadhaar Failures: बिना आधार नंबर के कोई काम होना आजकल बड़ा मुश्किल होता है.... लेकिन भरतपुर में आधार लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है... आधार की सुविधा उनके लिए दुविधा बन गई है.... क्योंकि, यहां आधार कार्ड में संशोधन कराना भी मुश्किल हो गया है। इसलिए शहर में हर दिन नाम परिवर्तन, जन्मतिथि, उम्र आदि में संसोधन की आस लेकर केंद्र पर आने वाले 80 से 100 लोग निराश लौट रहे हैं। स्थिति ये है कि हर बार 50 रुपए फ ीस देकर भी समाधान नहीं हो रहा... कहने को लोगों की आधार संबंधी समस्याओं के समाधान को शहर में चार केंद्र स्थापित किए गए थे। इनमें से वर्तमान मेंएक केंद्र पर ही काम हो रहा है, बाकी तीन केंद्र महीनों से बंद पड़े हैं। ये केंद्र शहर में कन्नी गुर्जर चौराहा के पास अग्निशमन केंद्र भवन, हीरादास रैन बसेरा, रेलवे स्टेशन रेन बसेरा और जिला परिषद में खोले गए। यहां वर्तमान में केवल जिला परिषद में ही संचालित है। वहां भी एक कम्प्यूटर पर लोगों की समस्या निर्भर है। तीन केंद्रों के बंद होने का कारण आधार बनाने वाली यूआईडीएआई कंपनी की ओर से ऑपरेटरों की आईडी एक्टिवेट नहीं करने को बताया जा रहा है। हालांकि, ऑपरेटरों ने अपने स्तर पर आवेदन किया लेकिन सुचारू नहीं की गई। अब जिला परिषद् में ही शहरभर के लोगों की आधार संबंधी समस्याओं का केंद्र रह गया है। इसलिए लोग हर दिन परेशानियों से जूझ रहे हैं। यहां आधार में संसोधन का जिक्र करें तो महिलाओं की शादी बाहर होने पर एड्रस प्रूफ में बदलाव, मूलनिवासी, गलत जन्मतिथि को सही कराना, मोबाइल नंबर की गलती में सुधार आदि कराने पर 50 रुपए शुल्क लिया जाता है। जबकि नया बनवाने पर नि:शुल्क सेवा है। फिलहाल पूर्व में बनवा चुके लोगों की परेशानी बढ़ गई है। ऐसे में न कोई मैसेज मिलता है और न सुधार होता है। इन्हें हर बार 50 रुपए शुल्क देना पड़ता है।
लोग कंपनी के टोल फ्र ी नंबर पर भी शिकायत करते हैं। यहां से डाटा न पहुंचना, एरर, प्रूफ अप्रूव्ड नहीं होना कहकर टाल दिया जाता है। यहां लोगों ने बताया कि दो बच्चों के आधार के लिए आवेदन किया था। एक का बन गया, जबकि दूसरे बच्चे का नहीं बना है। टोल फ्री नंबर पर शिकायत की, जहां रिजेक्ट होना बताया है जबकि मुझे रसीद मिली थी। अब दोबारा आवेदन करना पड़ेगा। वहीं एक और स्थानीय निवासी ने बताया कि अपनी बहन के आधार में जन्मतिथि सही कराने के लिए एक माह से चक्कर लगा रहा हूं। टोल फ्री पर कहते हैं आपके दस्तावेज प्राप्त नहीं हुए हैं, जबकि सभी सही दस्वातेज लगाए थे और रसीद भी मिली है। दो बार शुल्क भी दिया, लेकिन काम नहीं हुआ....

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned