जयपुर: सोए हुए ABVP कार्यकर्ताओं पर रात 1 बजे हमला, पूनिया बोले- 'सरकार के इशारे पर NSUI के गुंडों की हरकत'

जयपुर में एबीवीपी धरने के दौरान कार्यकर्ताओं पर हमला मामला, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया का बयान, कहा, ‘एनएसयूआई गुंडों द्वारा कातिलाना हमला निन्द्दनीय’, ‘घायल छात्र को ही गिरफ्तार करना ओछी मानसिकता’, ‘कांग्रेस सरकार के इशारा पर दबाया जा रहा छात्र आन्दोलन’, राजस्थान विश्वविद्यालय मुख्य द्वार पर देर रात की घटना

 

By: nakul

Published: 28 Feb 2021, 10:31 AM IST

जयपुर।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने कल देर रात राजस्थान विश्वविद्यालय मुख्यद्वार पर एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर हुए हमले की निंदा की है। घटना सामने आने के बाद पूनिया ने एक बयान जारी कर राज्य सरकार पर निशाना साधा, साथ ही एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को गुंडा तत्व करार किया।

 

पूनिया ने ट्वीट बयान में कहा कि राजस्थान विश्वविद्यालय में छात्रों की मांगों के लिए एबीवीपी कार्यकर्ताओं की ओर से शांतिपूर्ण धरना दिया जा रहा था। लेकिन ऍनएसयूआई के गुंडों ने वहां पहुंचकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं पर कातिलाना हमला किया, जो निंदनीय है।


उन्होंने कहा कि इस हमले के बावजूद पुलिस द्वारा घायल छात्र को ही गिरफ्तार करना ओछी मानसिकता का पर्याय है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने अआरोप लगाते हुए कहा कि इस तरह के हमले राज्य की कांग्रेस सरकार के इशारे पर हो रहे हैं। इस तरह से छात्र आंदोलन को दबाया जाना तानाशाही है।

 

ये है मामला
राजस्थान विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर विभिन्न मांगों को लेकर एबीवीपी का बेमियादी धरना जारी है। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं पर आरोप है कि उन्होंने कल देर रात लगभग एक बजे धरना स्थल पर पहुंचकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की और कातिलाना हमला किया।

 

एबीवीपी के प्रदेश मंत्री होशियार मीणा के अनुसार धरना स्थल पर सो रहे कार्यकर्ताओं पर लाठी भाटा और धारदार हथियारों से हमला किया गया है, जिसमें कई कार्यकर्ताओं के चोटें भी आई हैं। जबकि एक कार्यकर्ता को गिरफ्तार भी किया गया है।


‘ये कहाँ का न्याय है?’
मीणा ने अपने एक बयान में कहा कि धारा 151 में कांग्रेस सरकार की तानाशाही के कारण हमारे कार्यकर्ता पिटे, हम पर ही हमला हुआ और हमारे ही कार्यकर्ता को पुलिस ने गिरफ्तार किया। यह कहां का न्याय है गहलोत साहब?


कल जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन
एबीवीपी संगठन ने जयपुर में अपने कार्यकर्ताओं पर हुए हमले की घटना को देखते हुए कल सभी जिला केन्द्रों पर सरकार के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करने का फैसला लिया है। छात्र संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि जब तक जयपुर में कार्यकर्ताओं पर हुए हमले के दोषियों की गिरफ्तारी और सख्त कार्रवाई नहीं होती तब तक आंदोलन किया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned