एसीबी ने 20 हजार लेते पकड़ा, तो कनिष्ठ अभियंता बोला: मैं सेवानिवृत्त होने वाला हूं, मुझे छोड़ दो

राजस्थान विश्वविद्यालय में कनिष्ठ अभियंता 20 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार, महारानी कॉलेज में दो कमरे बनाने के बिल पास करने के एवज में मांगी थी घूस

By: pushpendra shekhawat

Published: 12 Feb 2021, 09:29 PM IST

जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने राजस्थान विश्वविद्यालय में सार्वजनिक निर्माण विभाग के कनिष्ठ अभियंता अजय शर्मा को 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

एसीबी के एएसपी नरोत्तम वर्मा ने बताया कि टीम ने आरोपी अजय को पकड़ा, तब उसने कहा कि मैं जुलाई में ही सेवानिवृत्त होने वाला हूं, मुझे बख्श दो। उन्होंने बताया कि महारानी कॉलेज में दो कमरों का निर्माण करने वाले ठेकेदार के 10.50 लाख रुपए के बिल पास करने के एवज में आरोपी ने 30 हजार रुपए रिश्वत मांगी थी।

पीडि़त ठेकेदार ने 3 फरवरी को एसीबी में शिकायत की थी। सत्यापन में कनिष्ठ अभियंता ने 30 में से 10 हजार रुपए ले लिए। शेष राशि बाद में देना तय हुआ। पीडि़त को परिवार में काम होने पर वह कनिष्ठ अभियंता को रकम देने नहीं गया।

इस पर शुक्रवार को कनिष्ठ अभियंता अजय ने ठेकेदार को फोन कर कहा कि क्या हुआ? तुम आए नहीं। फिर शुक्रवार को 20 हजार रुपए लेकर राजस्थान विश्वविद्यालय में खुद के कार्यालय में बुलाया। एसीबी टीम भी वहां पहुंच गई। विश्वविद्यालय में रिश्वत की राशि लेने के बाद आरोपी को पकड़ लिया।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned