सुधरने के लिए जेल से छूट सब्जी का ठेला लगाया, रुपयों की जरूरत पड़ी तो फिर चुराई एसीबी की कार

pushpendra shekhawat

Publish: Jun, 14 2018 08:07:53 PM (IST)

Jaipur, Rajasthan, India
सुधरने के लिए जेल से छूट सब्जी का ठेला लगाया, रुपयों की जरूरत पड़ी तो फिर चुराई एसीबी की कार

पता नहीं था एसीबी की कार थी, अंदर लालबत्ती मिली तो छोड़ भागे थे

जयपुर. ज्योति नगर पुलिस की गिरफ्त में आए वाहन चोर गिरोह ने लालकोठी सब्जी मंडी से भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की कार चुराना कबूला है। पूछताछ में आरोपी ऋषीराज मीणा ने बताया कि मंडी से कार चुराने के बाद उसमें लालबत्ती मिली। तब उसे लवकुश नगर में एक भूखंड में छोड़ भाग गए थे। दलाल के जरिए उन्हें टवेरा गाड़ी उठानी थी। लालकोठी में एेसी गाड़ी दिखी, तभी उसे चुरा ले गए थे।

 

डीसीपी विकास पाठक ने बताया कि पूछताछ में ऋषीराज से सामने आया कि छह माह पहले ही वह जेल से छूटा है। फिर सब्जी का ठेला लगाने लगा। रुपयों की जरूरत पडऩे पर वापस कार चोरी के गोरखधंधे में लग गया। गौरतलब है कि ज्योति नगर पुलिस ने गिरोह को कठपुतली नगर कच्ची बस्ती नाला पर दो कारों को गुजरात के ग्राहक को दलालों के जरिए बेचते हुए पकड़ा था।

 

मात्र तीन मिनट में की थी चोरी

एसीबी चालक विद्याधर झालाना एसीबी मुख्यालय से झोटवाड़ा सनसिटी में रहने वाले आरएएस अधिकारी उम्मेद सिंह को लेने उनके घर जा रहा था। रास्ते में लालकोठी मंडी में मैस के लिए सब्जी लेने मंडी में चला गया। करीब आठ बजे एक थैली गाड़ी में रख दी और दूसरी पैक थैली लेने चला गया। करीब तीन मिनट बाद ही सब्जी की थैली लेकर लौटे विद्याधर को गाड़ी नहीं मिली।

 

नहीं मिली आईजी की टवेरा
अभी तक पुलिस आइबी के आइजी केसी मीणा की कार का अभी तक सुराग नहीं लगा पायी है। पुलिस ने आइजी की कार के लिए कई जगह दबिश दे चुकी है। इस दौरान दस से अधिक वाहन चोर गिरोह भी पुलिस ने दबोचे हैं लेकिन अभी तक आइजी की कार का कोई सुराग नहीं लग पाया है। इस संबंध में आइजी केसी मीणा के चालक विनोद ने मोती डूंगरी थाने में कार चोरी होने का मामला दर्ज कराया था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned