एसीबी अपनी कार्यप्रणाली को और अधिक प्रभावी बनाए: गहलोत


मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (एसीबी) को अपनी कार्यप्रणाली को और अधिक प्रभावी बनाने की जरुरत है। अधिकारी सूचनाओं का विश्लेषण सही ढंग से कर मामले की तह में जाने का प्रयास करेंं। उन्होंने आय से अधिक संपत्ति के मामलों में गहन पड़ताल की बात भी करते हुए कहा कि भ्रष्ट लोगों में जब तक भय नहीं होगा भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा।

By: Prakash Kumawat

Published: 24 Jun 2020, 10:32 PM IST


एसीबी अपनी कार्यप्रणाली को और अधिक प्रभावी बनाए: गहलोत
आय से अधिक संपत्ति के मामलों में हो गहन पड़ताल: गहलोत
मुख्यमंत्री ने किया एसीबी के भवन का लोकार्पण एवं होमगार्ड निदेशालय के नवीन भवन का शिलान्यास

जयपुर, 24 जून। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (एसीबी) को अपनी कार्यप्रणाली को और अधिक प्रभावी बनाने की जरुरत है। अधिकारी सूचनाओं का विश्लेषण सही ढंग से कर मामले की तह में जाने का प्रयास करेंं। उन्होंने आय से अधिक संपत्ति के मामलों में गहन पड़ताल की बात भी करते हुए कहा कि भ्रष्ट लोगों में जब तक भय नहीं होगा भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा।

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में राज्य सरकार जीरो टोलरेेंस की नीति पर काम कर रही है। भ्रष्ट अधिकारी-कर्मचारी ट्रैप नहीं हो पाते हैं, ऎसे में आय से अधिक सम्पत्ति के मामलों मे एसीबी अधिकारियों को गहन जांच-पड़ताल कर पता लगाना चाहिए कि सम्पत्ति आय से कई गुना अधिक कैसे बढ़ी? शिकायत की तह में जाकर एसीबी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि शिकायत वास्तविक है तो शिकायतकर्ता को विश्वास में लेकर सही जांच हो और तार्किक अंत तक पहुंचे। शिकायत अगर झूठी है तो शिकायतकर्ता को उचित दंड मिले।
मुख्यमंत्री गहलोत ने बुधवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गृह रक्षा निदेशालय के नवीन भवन के शिलान्यास एवं भ्रष्टाचार निरोधक विभाग के नए भवन के लोकार्पण तथा एसीबी की हैल्प लाइन 1064 के शुभारंभ के बाद कहा कि एसीबी एवं क्राइम ब्रांच में आने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों को अच्छी ट्रेनिंग दी जानी चाहिए, ताकि किसी भी मामले की जांच विशेषज्ञता के आधार पर हो सके।

हैल्प लाइन पर शिकायत का तत्परता हो निराकरण

मुख्यमंत्री ने एसीबी की हैल्प लाइन 1064 का शुभारंभ के बाद पहला कॉल करते हुए ड्यूटी पर मौजूद अधिकारी से कहा कि इस हैल्प लाइन पर की गई शिकायत का तत्परता से हल करने का प्रयास करें। कार्यक्रम में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि ढाई हजार नए होमगार्ड की भर्ती प्रक्रियाधीन है, इस नई भर्ती से गृह रक्षा विभाग को मजबूती मिलेगी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता, पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह, डीजी (लॉ एण्ड ऑर्डर) एम.एल. लाठर, डीजी (क्राइम) बी.एल. सोनी, डीजी (पुलिस पुनर्गठन) के. नरसिम्हा राव एवं अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम के दौरान वीसी के माध्यम से स्थानीय विधायक एवं जनप्रतिनिधि, पुलिस अधिकारी, होमगार्ड के सेवानिवृत्त अधिकारी एवं आमजन भी जुड़े रहे।

-

Congress
Prakash Kumawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned