हद है...सरकारी काम करने देने की एवज में ही सरकारी कार्मिक ले रहा था रिश्वत

एसीबी अफसरों ने बताया कि इस तरह के मामले बेहद कम सामने आते हैं जब सरकारी काम ही करने की एवज में सरकार की ओर से ही नियुक्त किए व्यक्ति से सरकारी कार्मिक रिश्वत ले।

By: JAYANT SHARMA

Published: 26 Aug 2020, 11:13 AM IST

जयपुर
सरकारी काम करने देने की एवज में ही एक सरकारी कार्मिक ने रिश्वत ले ली। उसने निजी ठेकेदार से रिश्वत मांगी थी और रिश्वत नहीं देने के चलते करीब चालीस दिन से काम भी रोक रखा था। इस पूरी मामले का सत्यापन कराने के बाद अब एसीबी ने रिश्वतखोर रेलवे कार्मिक को ट्रेप कर लिया। ट्रेप की यह कार्रवाई अलवर जिले में की गई हैं।

एसीबी अफसरों ने बताया कि अलवर में खानपुर अहीर से हरसोली लाइन के बीच सिग्नल लाइन का काम चल रहा था। ठेकेदार जगदीश पूनिया को वहां काम करने वाला रेलवे हेल्पर बार बार परेशान कर रहा था और का रोकने की धमकी दे रहा था। उसने काम करने देने की एवज में पिछले महीने पच्चीस हजार रुपए मांगे थे। पिछले महीने पंद्रह जुलाई से काम भी रोक रखा था।

जब पानी सिर से उपर गुजरा और ठेकेदार हेल्पर ने मुकेश सिंह के बारे में एसीबी को सूचना दी तो एसीबी ने मामले का सत्यापन कराने के बाद मुकेश सिंह को दस हजार रुपए की रिश्वत की पहली किश्त लेते धर लिया। एसीबी अफसरों ने बताया कि इस तरह के मामले बेहद कम सामने आते हैं जब सरकारी काम ही करने की एवज में सरकार की ओर से ही नियुक्त किए व्यक्ति से सरकारी कार्मिक रिश्वत ले।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned