आईसीएमआर की रिपोर्ट के अनुसार बढ़ रही हैं लिवर की बीमारियां

जयपुर . Rajasthan के अंदर Jaipur में Liver Diseases की समस्याएं ज्यादा है और यह पाया गया है कि अस्पतालों में काफी संख्या में Liver की समस्याओं के मामले तब आते हैं, जब मरीज की समस्या ठीक होने लायक नहीं रह जाती है।

By: Anil Chauchan

Published: 05 Sep 2020, 08:13 PM IST

जयपुर . राजस्थान ( Rajasthan ) के अंदर जयपुर ( Jaipur ) में लिवर की बीमारियों ( Liver Diseases ) की समस्याएं ज्यादा है और यह पाया गया है कि अस्पतालों में काफी संख्या में लिवर ( Liver ) की समस्याओं के मामले तब आते हैं, जब मरीज की समस्या ठीक होने लायक नहीं रह जाती है। इस स्तर पर लिवर ट्रांसप्लांट ( Liver Transplant ) जिंदगी बचाने का एकमात्र विकल्प बन जाता है।


इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की स्टेट वाइज डिजीज बर्डन रिपोर्ट इस बात का खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार लिवर की बीमारियों की बढ़ते मामलों को देखते हुए, शहर को उपचार और ट्रांसप्लांट के लिए अधिक विश्व स्तरीय सुविधाओं की जरूरत है। रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि राजस्थान में सिरोसिस विभिन्न आयु समूहों में मृत्यु का मुख्य कारण है। 40-69 वर्ष के समूह में 20 प्रतिशत से अधिक लोगों की मौत सिरोसिस की वजह से होती है और 70 वर्ष से अधिक का होने पर यह दर 30 प्रतिशत हो जाती है।


भारत में हर साल लिवर सिरोसिस के लगभग 10 लाख नए मरीजों का पता चलता है। मणिपाल हॉस्पिटल्स में लिवर ट्रांसप्लांट विशेषज्ञ डॉ. शैलेन्द्र लालवानी ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार लिवर की बीमारियां भारत में होने वाली मौतों की दसवीं सबसे आम वजह है। वयस्कों में, लिवर ट्रांसप्लांट की आवश्यकता का सबसे आम कारण सिरोसिस, हैपेटाइटिस वायरस की वजह से लिवर फेल होना, एल्कॉहलिक सिरोसिस और लिवर का कैंसर है जो लिवर के बाहर नहीं फैलता है। जिस व्यक्ति में सामान्य रूप से काम करने वाला लिवर होता है, उसमें से 60-70 प्रतिशत को सुरक्षित रूप से हटाया जा सकता है।


विशेषज्ञोें के अनुसार वर्तमान में जयपुर उन चुनिंदा जगहों में से एक है, जहां लिवर संबंधित बीमारियों के लिए पर्याप्त अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं। लिवर की बीमारियों के बढ़ते मामले बताते हैं कि उपचार और देखभाल के लिए विशेष रूप से ध्यान देने और उन्नत सुविधाओं की जरूरत है। बहुत ज्यादा खाने, मोटापे, डायबिटीज, बहुत ज्यादा शराब पीने और सुस्त जीवनशैली सहित कई वजहों से फैटी लिवर, एल्कोहलिक लिवर, हेपेटाइटिस सी और पाचन से जुड़ी अन्य दिक्कतों जैसी गैस्ट्रो बीमारियों में बढ़ोत्तरी देख रहे हैं।

Show More
Anil Chauchan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned