धन सौ गुना करने के नाम पर लाखों रुपए की नकदी व जेवरात हड़पने का आरोप

जादू-टोना व चमत्कारों के नाम पर खेल दिखाकर किया ग्रामीणों को प्रभावित, पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर शुरू की जांच

By: Gaurav Mayank

Published: 11 Jun 2021, 12:09 AM IST

जयपुर। जादू-टोना व चमत्कारों के माध्यम से कलश में रखा धन सौ गुना करने का झांसा देकर लाखों रुपए की नकदी व जेवरात हड़पने के मामले में केकड़ी थाना पुलिस ने 8 जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। मोलकिया निवासी जयसिंह उर्फ पप्पू गुर्जर एवं अन्य ने रिपोर्ट दी कि गत वर्ष अगस्त माह में मेवदा के समीप स्थित रडिया के देवजी के मेले में रोपां जिला भीलवाड़ा हाल मदनपुरा तहसील सरवाड़ निवासी शोभाराम धाकड़, मदनपुरा निवासी दुर्गालाल धाकड़, सोहनपुरा निवासी रामलाल धाकड़, मदनपुरा निवासी खुशीराम धाकड़, नासिरदा निवासी दीपू सोनी व रतन सोनी ने मेले में आने वाले लोगों को चमत्कार आदि के नाम पर करतब दिखाए।

इन लोगों ने शोभाराम धाकड़ को चमत्कारी व्यक्तित्व बताकर आशीर्वाद लेने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान शोभाराम ने हवा में कपड़ा उछाल कर नोटों की गड्डियां बिखेरने जैसे कई करतब दिखाए। उसने कई लोगों को अपने जाल में फंसा लिया व रुपए व जेवरात सौ गुना करने का झांसा देकर अपने घरों में कलश स्थापना करने की बात कही। उसने पीडि़तों को बताया कि कलश स्थापित करने के 6 माह बाद खोला जाएगा। कलश में कम से कम 51 हजार रुपए नकद एवं एक तोला सोना या एक किलो चांदी के जेवर रखने होंगे।

इस दौरान विविध पूजा-पाठ एवं अनुष्ठान आदि किए जाएंगे। जिससे कलश में रखा धन सौ गुना हो जाएगा। जालसाजों के बहकावे में आकर पप्पू गुर्जर ने 15 लाख रुपए नकद व 25 तोला सोने के जेवर, रामपाली निवासी सांवरलाल खटाणा ने 13 लाख रुपए नकद व 30 तोले सोने के जेवर एवं सुरेश गुर्जर, राकेश कुमार, रतन गुर्जर, गोपाल गुर्जर व सुखलाल ने अलग-अलग समय पर लगभग 20 लाख रुपए नकद व 40 तोला सोने के जेवर कलशों में रखकर अपने घरों में स्थापित करा दिए। उपरोक्त आरोपियों ने पूजा-पाठ व अनुष्ठान के दौरान कलशों में रखे जेवर व नकदी पार कर ली। छह माह बाद जब कलश खोलने की बात कही तो उक्त आरोपियों ने कुछ समय तक तो टालमटोल की। बाद में वे पीडि़तों को सर्राफा व्यवसायी प्रकाश नाहटा, अरविन्द नाहटा व अक्षय नाहटा के पास ले गए। जहां उपरोक्त व्यवसायियों ने आरोपियों की बातों का समर्थन करते हुए कहा कि किसी तरह की चिंता करने की जरूरत नहीं है। भगतजी ने सबको निहाल कर दिया है।

मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू
6 जून को उन्हें पता चला कि भिनाय थाना पुलिस ने झांसा देकर जेवरात हड़पने के मामले में शोभाराम धाकड़, दीपू सोनी व रतन सोनी को पकड़ रखा है। ठगी का अहसास होते ही उन्होंने घर आकर कलश खोले तो कलश पूरी तरह खाली मिले। इस पर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। परिजन का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादसं. की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


डायमंड डिलेवरी का झांसा देकर ठगे 1.20 लाख रुपए

कामां (भरतपुर)। उत्तर प्रदेश की बांदा की साइबर सेल टीम ने गुरुवार को कामां थाने के के गई गंावों में दबिश देकर ऑनलाइन ठगी के आरोपियों की तलाश की। लेकिन पुलिस टीम को कोई सफलता नहीं मिल पाई। बताया जा रहा है कि डायमण्ड की डिलेवरी देने का झांसा देकर एक व्यक्ति से 1.20 लाख रुपए ठगे हैं। जिसको लेकर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

थाना प्रभारी जमील खान ने बताया कि बांदा के साइबर पुलिस के इंस्पेक्टर मोहम्मद फहीम अख्तर के नेतृत्व में टीम कामां थाने पर पहुंची। स्थानीय पुलिस का सहयोग लेते हुए कामां थाना क्षेत्र के कई गांवों में अपराधियों की तलाश में दबिश दी गई। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। मेवात के ठगों के द्वारा डायमण्ड की होम डिलेवरी देने के बहाने से अपने खातों एक लाख 20 हजार रूपए ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिए। जिसपर साइबर पुलिस ने मोबाइल सिमों के आधार पर कामां क्षेत्र अपराधियों की तलाश करने के लिए डेरा डाल रखा है।

Gaurav Mayank
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned