टाइट सिक्यूरिटी के बीच मॉल में ऐसे होती है एसिड की एन्ट्री, आसानी से किया जा सकता है 'अटैक'!

टाइट सिक्यूरिटी के बीच मॉल में ऐसे होती है एसिड की एन्ट्री, आसानी से किया जा सकता है 'अटैक'!

rajesh walia | Publish: Feb, 15 2018 09:54:27 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

जहां से तेजाब लेकर घुसने की आशंका जताई, वहां फिर भी कोई सुरक्षा नहीं मिली

जयपुर

वेलेंटाइन डे पर एक बार फिर राजधानी में एक अघेड़ सिरफिरे आशिक की घिनौनी करतूत सामने आई है। जयपुर के झोटवाड़ा इलाके में दिन दहाड़े ट्राइटेन मॉल में तेजाब डालने की घटना सामने आयी हैं। बताया जा रहा है कि झोटवाड़ा में ट्राइटन मॉल की तीसरी मंजिल पर तेजाब फेंकने वाला सिरफिरा आरोपित पहले से ही दो शादियां कर चुका है। पुलिस की जांच में सामने आया कि आरोपित महबूब (35) पहले भी दो महिलाओं से निकाह कर चुका था, लेकिन बाद में उन्हें तलाक दे दिया।

इस घटना के बाद राजस्थान पत्रिका ने वहां की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। तो मॉल में आगे के गेट की तरफ गार्ड और सुरक्षा उपकरणों की चेकिंग से होकर गुजरना पड़ा। लेकिन जब मॉल के पीछे की तरफ पहुंचने पर पता चला कि बिना रोक टोक के यहां स्थित सीढिय़ों से कोई भी अंदर आसानी से प्रवेश कर सकता है। पुलिस ने आरोपित के तेजाब इन्हीं सीढिय़ों से ले जाने की आशंका भी जताई है। इसके बावजूद सीढिय़ों खुली थीं और वहां कोई सुरक्षाकर्मी नहीं था। मॉल में काम करने वाले भी बोले ऐसे तो कोई भी हथियार लेकर यहां आ जाएगा। इस संबंध में मॉल के सिक्योरिटी मैनेजर से संपर्क किया, वे सीट पर नहीं मिले। फोन पर बात की तो उन्होंने बाहर होने की कहकर बात करने से इनकार कर दिया।

पानी से धोया, लेकिन तेजाब की दुर्गंध नहीं गई
मॉल में धक्का मुक्की के दौरान तेजाब पीडि़त महिला पर गिरा, साथ में सिनेमाघर की दीवार और फर्श पर भी गिरा। बाद में मॉल प्रशासन ने उसकी सफाई
करवाई, लेकिन उसकी तेज दुर्गंध शाम तक आ रही थी।

थाना पुलिस दे रही सूचना, एसएचओ पहुंच भी गए

मॉल से किसी ने झोटवाड़ा थानाधिकारी गुरुभूपेन्द्र सिंह को सीधी सूचना दे दी। वे कुछ मिनट में ही वहां पहुंच गए और झुलसे लोगों को अस्पताल भिजवाया। तभी कन्ट्रोल रूम के जरिए झोटवाड़ा थाना पुलिस को मॉल में हुई वारदात की सूचना मिलती है। थाना पुलिस थानाधिकारी गुरुभूपेन्द्र को सूचना देते हैं कि मॉल में ऐसी घटना हो गई। तब वे थाने वालों को कहते हैं कि मैं यहां पर आ गया हूं। घायलों को अस्पताल पहुंचा दिया है। आरोपित भी पकड़ लिया गया है।

इन धाराओं में आरोपित महबूब के खिलाफ मामला दर्ज
आईपीसी 307 :- जानलेवा हमला करना
आईपीसी 354 डी :- किसी स्त्री का पीछा करना

आईपीसी 326 ए :- तेजाब से हमला करना

यहां से झुलसे

- पीडि़त महिला : चेहरा, गर्दन और छाती व हाथ पर तेजाब गिरने से झुलसी
- सहकर्मी युवती : हाथ

- सुपरवाईजर राजकुमार : हाथ
- आरोपित महबूब : हाथ व गर्दन के पास

बाजार में खुलेआम मिल रहा तेजाब

प्रतिबंधित होने के बाद भी बाजार में नमक के तेजाब की बिक्री थमने का नाम नहीं ले रही है। इसकी 15 रुपए से 20 रुपए में बोतल आसानी से मिल जाती है। राजस्थान पत्रिका टीम ने बाजार में हकीकत पता कि तो चौकान्ने वाली बात सामने आई। यहां जिस दुकान पर भी टीम पहुंची, कई जगह तेजाब खरीदा भी,लेकिन किसी भी दुकानदार ने तेजाब देने से इनकार नहीं किया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned