जितने केस थानों में नहीं, उससे ज्यादा तो एसीपी की शिकायतें

जितने केस थानों में नहीं, उससे ज्यादा तो एसीपी की शिकायतें

neha soni | Publish: Feb, 20 2019 02:06:07 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

2018 में गडऱा रोड थाने में 31 तो मंडली थाने में 34 ही प्रकरण दर्ज हुए, जबकि आस मोहम्मद के खिलाफ 60 अर्जियों

जयपुर. राजस्थान के कई थानों में एक वर्ष के दौरान अपराध के जितने मामले दर्ज हुए हैं, उससे कहीं अधिक शिकायतें भ्रष्टाचार के आरोपी एसीपी आस मोहम्मद के खिलाफ पहुंची हैं। इस पर जयपुर कमिश्नरेट के एक अधिकारी ने बताया कि प्रकरणों की निष्पक्ष जांच के लिए एक विंग बनाई जाए, तब जाकर पीडि़तों को जल्द न्याय मिल सकेगा। सूत्रों के अनुसार जयपुर पुलिस उपायुक्त विकास शर्मा के पास अब तक एसीपी के खिलाफ करीब 60 से अधिक शिकायतें पहुंची हैं। इनमें वे मामले भी शामिल हैं, जिनमें कि पीडि़तों ने सीधे भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) अधिकारियों को लिखित में शिकायत दी है। गौरतलब है कि वर्ष 2018 में बाड़मेर के गडऱा रोड थाने में 31, मंडली थाने में 34 और गिराब थाना में 56 मामले दर्ज हुए हैं।
पीएचक्यू ले सतर्कता शाखा की मदद : एसीबी अधिकारियों ने बताया कि पुलिस मुख्यालय के दखल पर एसीपी आस मोहम्मद के समय जिन मामलों को बंद कर दिया था, उनकी अब पुलिस मुख्यालय अपनी सतर्कता शाखा के अधिकारियों से जांच करवाए।

उपायुक्त विकास शर्मा से सवाल-जवाब
एसीपी आस मोहम्मद के खिलाफ रोज कितने मामले आ रहे होंगे?
उपायुक्त : रोज करीब पांच छह शिकायत मिल रही हैं।
शिकायतकर्ता का क्या आरोप है?
उपायुक्त : अलग-अलग मामलों को लेकर शिकायतें हैं।

इतनी शिकायतों की जांच कैसे हो पाएगी?
उपायुक्त : यहां आने वाली शिकायतों की प्राथमिक जांच में गड़बड़ी मिलती है तो उनकी निष्पक्ष जांच होगी। सभी आने वाले मामलों पर निगरानी भी है। शिकायतों की संख्या बढऩे पर अलग विंग बनाकर भी जांच करवाई जा सकती है।

और कोई भी शिकायतें मिल रही हैं?
उपायुक्त : हां, एसीपी के अलावा भी कई अन्य थानों की शिकायतें मिली हैं। सबकी निष्पक्ष जांच होगी
एसीबी में जाने वाली शिकायतें भी आप के पास आ रही हैं?
उपायुक्त : हां। यह हमारे अनुसंधान का विषय है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned