ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज नहीं की तो होगी कार्रवाई

सबसे बेहतर हनुमानगढ़ का रहा प्रदर्शन

जयपुर। शाला दर्पण पोर्टल पर दैनिक ऑनलाइन उपस्थिति को लेकर शिक्षक परेशान हैं, वहीं इसके परिणाम बेहतर होते जा रहे हैं। जबसे स्कूलों में ऑनलाइन उपस्थिति शुरू हुई है, शिक्षकों का समय पर स्कूल पहुंचना शुरू हो गया है। फिर भी कई जगहों पर अब भी सुधार की गुंजायश है। उपस्थिति की प्रभावी व सतत मॉनिटरिंग के लिए प्रगति रिपोर्ट प्रत्येक कार्यालय लॉगिन में शुरू कर दी गई है। वहीं कई संस्था प्रधान, पीईईओ अभी तक अपने अधीनस्थ कार्मिकों की उपस्थिति इस शाला दर्पण पोर्टल के मॉडयूल में इंद्राज नहीं कर रहे हैं। अब इनकी शत प्रतिशत उपस्थिति इसमें इंद्राज नहीं हुई तो विभाग कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है। 12 फरवरी तक की उपस्थिति रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है।

ये है स्थिति
प्रदेश में 63 हजार 162 स्कूलों की ऑनलाइन उपस्थिति की जानी हैं, जिसमें से अभी 59 हजार 454 स्कूल ही पोर्टल पर उपस्थिति दर्ज कर रहे हैं। प्रदेश में 3 लाख 86 हजार 221 शिक्षक और कार्मिकों में से 3 लाख 22 हजार 337 अभ्यर्थियों की उपस्थिति दर्ज की जा रही है। इसके अलावा 12 हजार 657 शिक्षक और कार्मिक कार्य व्यवस्थार्थ लगे हैं तो 8 हजार 263 कार्मिक ट्रेनिंग और ट्रेवलिंग में लगे हैं। करीब 41 हजार 874 शिक्षक और कार्मिक अभी अवकाश पर हैं। ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज करने में सबसे अच्छी स्थिति अभी 97.58 प्रतिशत हनुमानगढ़ जिले की है।

MOHIT SHARMA Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned