एक्शन में प्रशासक : लाटा के जाते ही नामकरण किया निरस्त

वीटी चौराहे का नाम मां गायत्री चौराहे करने का आदेश किया निरस्त
पूर्व महापौर व पार्षदों की अनुशंसा पर निगम प्रशासन ने ही नामकरण के जारी किए थे आदेश

By: Bhavnesh Gupta

Published: 27 Nov 2019, 08:46 AM IST

जयपुर। जयपुर नगर निगम की कमान हाथ में आते ही प्रशासक पहले दिन ही एक्शन में आ गए। निगम प्रशासन ने मानसरोवर, वीटी चौराहे का नामकरण मां गायत्री चौराहा करने के आदेश को निरस्त कर दिया। इस पर आगामी कार्यसमिति की बैठक में अधिकारिक तौर पर मुहर भी लगवाई जाएगी। प्रशासक और आयुक्त विजयपाल सिंह के निर्देश पर अतिरिक्त आयुक्त अरुण गर्ग ने मंगलवार को निरस्तीकरण के आदेश जारी कर दिए। इसके पीछे तर्क दिया है कि इस रोड और चौराहे का नाम पहले सही वीरतेजाजी के नाम से है। लोग भी इसी के पक्ष में थे। पिछली बैठक में यह जानकारी में नहीं आया, इसलिए नया नामकरण हो गया। यही तर्क देते हुए नामकरण आदेश को निरस्त किया गया है। हालांकि, पूर्व महापौर विष्णु लाटा नामकरण के पक्ष में थे और यह एरिया उन्हीं के वार्ड क्षेत्र में आता है। नगर निगम की 26 सितम्बर को हुई बोर्ड बैठक में नामकरण का अतिरिक्त प्रस्ताव आया था। इसी आधार पर निगम प्रशासन ने 8 नवम्बर को इसके आदेश जारी किए।

बोर्ड कार्यकाल समाप्त होते ही एक्शन में आयुक्त
निगम के पांचवें बोर्ड का कार्यकाल 25 नवम्बर को खत्म हो गया। सरकार ने नवगठित दोनों निगम ग्रेटर व हैरिटेज में प्रशासन को नियुक्त किया और मौजूदा आयुक्त विजयपाल सिंह को ही प्रशासक की शक्तियां दे दी गई। प्रशासक का कार्य 26 नवम्बर से शुरू हुआ और पहले ही दिन विजयपाल सिंह एक्शन में नजर आए। कचरा संग्रहण, सफाई कार्य, स्ट्रीट लाइट से जुड़े कई मामलों की भी समीक्षा की।


-इस सड़क व चौराहे का नाम पहले से ही वीरतेजाजी के नाम से है। संभवतया पिछली बैठक में यह ध्यान में नहीं आया होगा, इसी कारण नया नामकरण कर दिया। लोगों ने आयुक्त को बताया, तब जानकारी हुई। इसी आधार पर नामकरण आदेश को निरस्त किया गया है। -अरुण गर्ग, अतिरिक्त आयुक्त, नगर निगम

Bhavnesh Gupta Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned