किसानों को दिया जा रहा है उन्नत कृषि का प्रशिक्षण

21 दिन चलेगा प्रशिक्षण कार्यक्रम

जयपुर। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद केन्द्रीय शुष्क बागवानी संस्थान बीकानेर में ‘गुणवत्तायुकत बीज उत्पादक’ पर किसानों के लिये 21 दिवसीय कृषि कौशल विकास प्रशिक्षण शुरू किया गया। इस प्रशिक्षण में नवयुवक किसानों को शुष्क क्षेत्रीय सब्जियों के गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन की जानकारी देकर उनका कौशल विकास किया जाएगा।
प्रशिक्षण के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता करते हुए संस्थान के निदेशक प्रो. (डॉ.) पी.एल. सरोज, ने उन्नत बीजों की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए प्रतिभागियों को गुणवत्तायुक्त बीज उत्पाद के क्षेत्र में स्व-रोजगार के विकल्प ढूंढने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि किसान भाई संस्थान द्वारा यहां की स्थानीय जलवायु के अनुकूल विकसित उन्नत किस्मों के गुणवत्तायुक्त बीजों का उपयोग करें, साथ ही किसानों से बीज उत्पादन की तकनीकी सीखने की भी अपील की, जिससे आय में वृद्धि के साथ-साथ स्वरोजगार के अवसर भी पैदा हो सके। इक्कीस दिवसीय इस प्रशिक्षण के सह-पाठ्यक्रम निदेशक डॉ. बी. आर. चैधरी एवं डॉ. अजय कुमार वर्मा ने प्रशिक्षण कार्यक्रय की रूपरेखा बताते हुए कहा कि यह कार्यक्रम भारतीय कृषि कौशल परिषद, (कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार) नई दिल्ली के सौजन्य से आयोजित किया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में छतरगढ़, लूणकरणसर, नोखा, श्रीगंगानगर, जोधपुर, पूगल, जामसर, देशनोक एवं चूरू सहित बीकानेर जिले से 20 प्रशिक्षणार्थी भाग ले रहे हैं। इस दौरान प्रशिक्षणार्थियों को सब्जी बीज उत्पादन के बारे में विभिन्न विषय विशेषज्ञों द्वारा व्याख्यान एवं प्रायोगिक ज्ञान दिया जाएगा। ज्ञात्‍व्‍य रहे कि गतवर्ष इसी विषय पर सस्‍थान द्वारा आयोजित प्रशिक्षण के परिणामस्‍वरूप किसान उद्यमी सत्‍यनारायण एवं संस्‍थान के बीच सब्‍जी बीज उत्‍पादन हेतु आपसी समझोते का आदान प्रदान किया गया है।

Show More
Suresh Yadav Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned